CORONA INFECTION,

Covid in China: युवा खुद को क्यों कर रहे सक्रमित? रिपोर्ट में चौंकाने वाला दावा

नई दिल्ली। चीन में बढ़ते कोविड मामले के बीच एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है. बीबीसी के मुताबिक चीन के कई युवा अपनी इच्छा से खुद को संक्रमित कर रहे हैं ताकि उन्हें अपनी छुट्टियों के कार्यक्रम में बदलाव न करना पड़े. हालांकि रिपोर्ट में कुछ युवाओं ने इसका कारण नहीं बताया कि उन्होंने खुद को क्यों सक्रमित किया.

बीबीसी के मुताबिक कई युवा चीनी, जिनमें से सभी अपना नाम नहीं बताना चाहते थे, अलग तरह से महसूस करते हैं – और कुछ ने बताया कि वे स्वेच्छा से खुद को संक्रमण के संपर्क में लाए.

‘लक्षण काफी हद तक उम्मीद के मुताबिक रहे’
शंघाई में एक 27 वर्षीय कोडर, जिसे कोई भी चीनी टीका नहीं मिला था, का कहना है कि उसने स्वेच्छा से खुद को वायरस के संपर्क में लाकर संक्रमित किया. उसने कहा, ‘क्योंकि मैं अपनी छुट्टियों की योजना को बदलना नहीं चाहता.’

कोडर ने कहा, ‘और मैं यह सुनिश्चित कर सकता हूं कि अगर मैं जानबूझकर संक्रमित होने के समय को नियंत्रित करता हूं तो मैं ठीक हो जाऊंगा और छुट्टी के दौरान फिर से संक्रमित नहीं होगा.‘ वह स्वीकार करते हैं कि उन्हें संक्रमण के साथ आने वाली मांसपेशियों में दर्द की उम्मीद नहीं थी, लेकिन कहते हैं कि लक्षण काफी हद तक उम्मीद के मुताबिक रहे हैं.

‘यह बहुत अधिक दर्दनाक था’
एक अन्य शंघाई निवासी, एक 26 वर्षीय महिला ने बताया कि वह अपने दोस्त से मिलने गई थी, जिसका टेस्ट पॉजिटव आया था ‘ताकि मुझे भी कोविड हो सके.’ लेकिन वह कहती है कि उसका ठीक होना कठिन रहा है, ‘मैंने सोचा था कि यह ठंड लगने जैसा होगा लेकिन यह बहुत अधिक दर्दनाक था.’

चीन ने दी जीरो कोविड पॉलिसी मे ढील
बता दें चीन द्वारा विवादास्पद जीरो कोविड पॉलिसी में तेजी से ढील देने, बड़े पैमाने पर टेस्टिंग, कड़े क्वारंटीन और अचानक, व्यापक तालाबंदी के खत्म हो जाने से कई परिवार इस बात को लेकर अलर्ट है कि आगे क्या होगा.

बता दें सरकार ने पिछले महीने सरकार विरोधी प्रदर्शनों के मद्देनजर अपनी कठोर जीरो-कोविड नीति में ढील दी थी, जिसके बाद चीन ओमीक्रॉन स्वरूप के कारण कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेज वृद्धि से जूझ रहा है. अधिकारियों का तर्क है कि ओमीक्रोन स्वरूप डेल्टा स्वरूप जितना घातक नहीं है, जिसके कारण पूरी दुनिया में बड़े पैमाने पर मौतें हुई हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*