Coronavirus,

उत्तर प्रदेश में अब 1600 रुपए में हो सकेगा RTPCR टेस्ट

कोरोना टेस्ट को लेकर प्राइवेट लैब पर सीएम योगी की नजर

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में कोरोनावायरस (Coronavirus) ने कोहराम मचा रखा है। भारत (India) में भी स्थिति ज्यादा बेहतर नहीं है। रोज संक्रमण (Infection) के मामले बढ़ रहे हैं। वहीं भारत के सबसे बड़ी आबादी वाले उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की कुशल नेतृत्व क्षमता की वजह से इस महामारी को लेकर स्थिति नियंत्रण में ही नजर आ रही है।

अब उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस (COVID-19) के संक्रमण की रोकथाम के लिए योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने प्राइवेट लैब में कोरोना टेस्ट (Corona test) के लिए निर्धारित शुल्क की राशि लगभग 1000 रुपए घटा दी है। मतलब साफ है कि इस महामारी काल में प्रदेश की जनता का पूरा ख्याल योगी आदित्यनाथ की सरकार रख रही है। प्रदेश की जनता पर अतिरिक्त बोझ ना पड़े इसलिए ऐसा फैसला लिया गया है।

1600 रुपए में कोरोना वायरस जांच

योगी सरकार के नए आदेश के मुताबिक अब प्रदेश में स्थित प्राइवेट लैब (Private lab) में सिर्फ 1600 रुपए में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) की जांच कराई जा सकेगी। योगी सरकार की तरफ से यह आदेश जारी किया गया है कि अब प्राइवेट लैब में आरटीपीसीआर टेस्ट (RTPCR Test) जो 2500 रुपए में की जाती थी, इसके लिए सिर्फ 1600 रुपए ही लिए जाएंगे।

CORONAVIRUS

योगी सरकार की तरफ से यह फैसला आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए जरूरी टेस्ट किट रीजेंट्स और वीटीएम किट के दाम में कमी आने की वजह से लिया गया है। इसी को ध्यान में रखते हुए प्रदेश सरकार ने यह फैसला लिया है। साथ ही सरकार की तरफ से यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू किया जा रहा है। इसके साथ ही इस बात के भी निर्देश जारी किए गए हैं कि इससे ज्यादा पैसे लिए जाने की शिकायत मिली, तो लैब के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

उत्तर प्रदेश महामारी एक्ट 1897 और यूपी महामारी कोविड-19 (Coronavirus) नियमावली के तहत सभी प्राइवेट लैब के लिए सरकार द्वारा तय प्रावधानों का पालन करना अनिवार्य होगा। इसकी अवहेलना या सरकार के निर्देशों का उल्लंघन करने पर कार्रवाई होगी।

India Israel corona testing kit

यूपी में कोरोना संक्रमण की रफ्तार भले कम नहीं हो रही हो लेकिन फिर भी स्थिति नियंत्रण में है प्रदेश में रिकवरी रेट उच्च है और मृत्यु दर भी इस महामारी से काफी कम है। अब तक प्रदेश में 70 लाख 67 हज़ार 208 सैम्पल टेस्ट किए गए हैं।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*