Corona vaccine,

Corona vaccine: कोरोना की वैक्सीन को सार्वजनिक वस्तुओं के रूप में मान्यता दी जाए: WHO

जिनेवा के सम्मेलन में डायरेक्टर ओ ब्रायन ने दिया बयान

दिल्ली. दुनिया में कोरोना संक्रमितों की संख्या में हर दिन बढ़ोतरी हो रही है। इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) फिर कहा है, कि पूरी दुनिया के लिए कोरोना संक्रमण की वैक्सीन (Corona vaccine) को सार्वजनिक वस्तुओं के रूप में मान्यता दी जानी चाहिए। जिसमें सभी देशों को साथ मिलकर काम करना चाहिए और सभी देश इसमें योगदान करना चाहिए ।

यह भी पढ़े: देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या पहुंची 1 लाख 25 हजार 101

डब्ल्यूएचओ डिपार्टमेंट ऑफ इम्यूनाइजेशन, वैक्सीन्स एंड बायोलॉजिकल्स की डायरेक्टर कैथरीन ओ ब्रायन ने शुक्रवार को जिनेवा में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कोविड-19 की वैक्सीन्स को ग्लोबल पब्लिक हेल्थ गुड्स के रूप में मान्यता मिलनी चाहिए।

देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या पहुंची 1 लाख 25 हजार 101

कोरोना संक्रमित मरीज पहुंचे 52 लाख 11 हजार 124

विश्व में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में बेतरतीब इजाफा हुआ है। विश्व में अब तक 52 लाख 11 हजार 124 कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या पहुंच चुकी है। कोरोना संक्रमण की वजह से विश्व में अब तक 3 लाख 38 हजार 154 लोगाें की मौत हुई है। कोरोना संक्रमण की चपेट में आए 20 लाख 56 हजार 603 लोग उपचार से स्वस्थ्य हो चुके है। वर्तमान में 28 लाख 16 हजार 367 लोगाें का उपचार चल रहा है।

यह भी पढ़े: दिवंगत सीएम जयललिता के आवास को संग्राहलय बनाएगी तमिलनाडु सरकार

आक्सफोर्ड यूनीवर्सिटी ने बढ़ाई उम्मीद

कोरोना संक्रमण काल के बीच आक्सफोर्ड यूनीवर्सिटी के विशेषज्ञों ने उम्मीद बढ़ाई है। ऑक्सफोर्ड के शोधकर्ता कोरोना की वैक्सीन (Corona vaccine) पर लगातार रिसर्च कर रहे हैं। यह रिसर्च पहला चरण पूरा करने के बाद दूसरे चरण पर पहुंच चुका है। दूसरे चरण के परीक्षण में 10 हजार से ज्यादा लोग शामिल होंगे। पहले चरण में 1 हजार लोगों पर परीक्षण किया गया था। शोधकर्ताओं ने शुक्रवार को कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीन पर शुरुआती कामयाबी की पुष्टि करते हुए कहा कि वे मानव स्तर पर टेस्टिंग के दूसरे लेवल में जा रहे हैं।

यह भी पढ़े: एटीसी से संपर्क टूटा, पाकिस्तान में भीषण विमान हादसा, 98 यात्रियों की मौत

10 हजार से ज्यादा लोगों पर होगा प्रशिक्षण

गौरतलब है कि वैक्सीन (Corona vaccine) पर परीक्षण का पहला चरण पिछले महीने शुरू हुआ था। इसमें 55 साल के कम उम्र के एक हजार स्वस्थ लोगों पर इस वैक्सीन का परीक्षण किया गया। इसके बाद अब लोगों के इम्यून सिस्टम पर अशर देखने के लिए 70 साल से अधिक 5 से 12 साल के बच्चों सहित 10 हजार से अधिक लोगों पर इस वैक्सीन का परीक्षण किया जाएगा।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*