Passenger Bus Operator,

कोरोना काल में दानवीरों को नहीं लगाना पड़ेगा कार्यालय का चक्कर, बस एक क्लिक में मिलेगी मदद करने की इजाजत

सीएम बघेल ने किया वेबसाईट का उद्धाटन

रायपुर. छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस की रोकथाम एवं नियंत्रण में सामाजिक संस्थाओं की भागीदारी बढ़ाने, लोगों को जागरूक करने तथा आवश्यक सूचनाओं के आदान-प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुक्रवार वालेन्टिरी सर्विस फॉर कोविड-19 रिस्पांस वेबसाईट, कोरोना सहायता पटल का लोकार्पण किया। वेबसाइट (Corona sahaayata patal) का उद्धाटन करते समय सीएम बघेल ने कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने और संक्रमित मरीजों को अच्छा से अच्छा उपचार मिलने की बात कही।

यह भी पढ़े: भारत में कोरोना का कहर जारी, संक्रमण के मामलें में विश्व में पहुंचा 6वें पायदान पर

ये जानकारी रहेगी वेबसाइट में

इस वेबसाईट (Corona sahaayata patal) के माध्यम से छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण की अद्यतन रिपोर्ट, राज्य में क्वारंटाईन सेन्टरों की सूची, सहयोगी सामाजिक संस्थाओं की सूची, केन्द्र व राज्य सरकार के आवश्यक निर्देश, क्वारंटाईन सेन्टर निर्देर्शिका, सेन्टर संचालन एवं प्रबंधन के लिए आवश्यक मार्गदर्शिका, गर्भवती महिलाओं एवं बच्चों के लिए मार्गदर्शिका, क्वारंटाईन सेन्टर में रहने वाले व्यक्तियों का मनोबल बढ़ाने के तरीके आदि जानकारी प्राप्त हो सकेगी।

सीएम बघेल ने कहा, कि यह वेबसाईट छत्तीसगढ़ में किया गया अभिनव प्रयोग है। इसके माध्यम से कोरोना संक्रमण के बचाव और रोकथाम, लोगों को राहत पहुंचाने, क्वारेंटाईन सेन्टरों की व्यवस्थाओं को सुचारू बनाने और इन सेन्टरों के प्रबंधन में सहायता मिलेगी।

यह वेबसाईट देश के अन्य राज्यों के लिए भी अनुकरणीय होगी। सीएम ने कहा, कि जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों-कर्मचारियों के सक्रिय सहयोग से छत्तीसगढ़ में कोरोना संकट की चुनौती का सामना करने में काफी हद तक सफलता मिली है। आगे भी हम इस चुनौती का सामना करने में सफल होंगे।

यह भी पढ़े:

स्वैच्छिक सेवा देने वाले करा सकेंगे पंजीयन

सीएम बघेल द्वारा लोकार्पण की गई इस वेबसाइट (Corona sahaayata patal) के माध्यम से अब स्वैच्छिक सेवा देने वाले लोगों को कार्यालय का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। इस वेबसाईट के माध्यम से कोई भी इच्छुक व्यक्ति स्वैच्छिक सेवा देने के लिए अपना पंजीकरण करा सकते है। सामग्री और वित्त के रूप में दान भी दे सकते है, जिसका पंजीयन वेबसाईट पर होगा।

छत्तीसगढ़ राज्य में 20 हजार से अधिक क्वारंटाईन सेन्टर चल रहे है। जिसमें 3 लाख 50 हजार से अधिक प्रवासी श्रमिक और अन्य व्यक्ति वर्तमान में रूके हुए है तथा आगामी समय में 2 लाख से अधिक श्रमिकों के आने की संभावना है। इसे देखते हुए इस वेबसाईट का प्रवासी व्यक्तियों एवं समुदाय को काफी लाभ होगा।

क्वारंटाईन सेन्टरों में सुविधाओं को सुदृढ़ करने और प्रवासी व्यक्तियों का मनोबल बढ़ाने के लिए छत्तीसगढ़ राज्य में 28 जिलों के समस्त विकासखण्डों में गैर सरकारी संस्थाओं का सहयोग प्राप्त होगा। इन स्वैच्छिक प्रयासों में 120 से अधिक गैर सरकारी संगठन शामिल होंगे। यह वेबसाईड मुख्यमंत्री के मार्गदर्शन में स्वैच्छिक संस्थाओं और राज्य योजना आयोग के सहयोग से तैयार की गयी है। यह वेबसाईट लोगों के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*