Corona Patients Counseling,

क्वारेंटाइन सेंटर में संक्रमित मरीजों की काउंसिलंग कराएगा जिला स्वास्थ्य विभाग

स्वास्थ्य विभाग के आदेश का राजधानी सहित पूरे प्रदेश में होगा पालन

रायपुर. प्रदेश के क्वारेंटाइन सेंटरों (Corona Patients Counseling) में श्रमिकों और सुरक्षाकर्मियों का लगातार विवाद होने की सूचना आने के बाद, जिला स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने श्रमिकों की काउंसलिंग करने का निर्णय लिया है। राज्य स्वास्थ्य विभाग ने क्वारेंटाइन सेंटरों को बनाने के बाद जिला के स्वास्थ्य अधिकारियों को मनोचिकित्सक नियुक्त करने का निर्देश दिया था।

राजधानी समेत प्रदेश भर के जिला स्वास्थ्य अधिकारियों ने राज्य स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के आदेश की अनदेखी कर दी। स्वास्थ्य अधिकारियों के आदेश की अनदेखी का खामियाजा यह निकला, कि अब श्रमिक अवसाद की वजह से विवाद करने लगे है। शनिवार को रायपुर समेत प्रदेश भर के जिला स्वास्थ्य अधिकारियों ने अपने-अपने स्तर में मनोचिकित्सक नियुक्त करने का आदेश निकाला है।

उच्चतम न्यायालय के आदेश की अनदेखी

कोरोना वायरस के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए प्रवासी श्रमिकों का मानसिक तनाव दूर करने के संबंध में 31 मार्च को उच्चतम न्यायालय ने जागरूकता कार्यक्रम चलाने का आदेश दिया था। न्यायालय के आदेश पर क्वारंटाइन केंद्र(Corona Patients Counseling) में रखे गए प्रवासी श्रमिकों को मानसिक तनाव दूर करने के टिप्स दिए जा रहे हैं। राजधानी रायपुर की सीएचएमओ डॉ. मीरा बघेल ने बताया, कि क्वारेंटाइन सेंटरों (Corona Patients Counseling) में श्रमिकों की काउंसिलिंग कर उन्हें साफ-सफाई, सोशल डिस्टेंसिंग और आपसी व्यवहारिक वातावरण बनाने की सलाह दी जा रही है।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*