aiims

Corona In Raipur: कोरोना पॉजीटिव मां के बच्चों की मां बनी एम्स की दो नर्से

बच्चों की एक्टिविटी से खुश होते है संक्रमित मरीज

रायपुर. Corona In Raipur: अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान रायपुर में एडमिट कोरोना पॉजीटिव मां के दो बच्चे पूरी तरह से स्वस्थ हैं। इन बच्चों को एम्स की दो नर्स मां की तरह प्यार और दुलार दे रही है। एम्स प्रबंधन ने दो नर्सों को इन बच्चों की ड्यूटी के लिए तैनात किया है। दोनों बच्चें एम्स के स्टॉफ के साथ काफी घुल-मिल गई हैं।

यह भी पढ़े: Unique wedding in lockdown: घूंघट-सेहरा से नहीं मास्क से ढंका होगा दूल्हन और दूल्हे का चेहरा

पिछले दिनों इनकी मां के अलावा इन बच्चों के मामा भी पॉजीटिव पाए गए थे। इसके बाद नानी को देखरेख के लिए बुलाया गया, तो वह भी कोरोना वायरस (Corona In Raipur) पॉजीटिव मिली थी। इन बच्चों का भी कोरोना टेस्ट किया गया है। जो पहली बार नेगेटिव आया है। इन दोनों बच्चों का 5 दिन बाद दोबारा टेस्ट होगा। यह टेस्ट भी निगेटिव आया, तो बच्चों को परिजनों के सुपुर्द कर दिया जाएगा।

सभी 20 कोरोना पॉजीटिव रोगियों की स्थिति स्थिर

एम्स में एडमिट कोरोना वायरस के सभी 20 पॉजीटिव रोगियों की स्थिति स्थिर बनी हुई है। निदेशक प्रो. (डॉ.) नितिन एम. नागरकर ने बताया कि सभी रोगी एम्स के विशेषज्ञों की निरंतर निगरानी में हैं और उन्हें आईसीएमआर के प्रोटोकॉल के अनुसार दवाइयां प्रदान की जा रही हैं। निरंतर उनके सैंपल टेस्ट किए जा रहे हैं। दो लगातार टेस्ट नेगेटिव आने पर उन्हें डिस्चार्ज किया जाएगा। प्रो. नागरकर भी निरंतर वार्ड का दौरा कर रोगियों की हालत पर निगाह बनाए हुए हैं।

टीबी की ओपीडी में आ रहे बड़ी संख्या में रोगी

एम्स के टीबी और पल्मोनरी विभाग में बड़ी संख्या में रोगी अपना इलाज करवाने के लिए पहुंच रहे हैं। एक अप्रैल से 14 अप्रैल तक यहां 1176 रोगी अपना इलाज करवा चुके हैं। प्रो. नागरकर ने बताया कि कोरोना वायरस (Corona In Raipur) से मिलते जुलते लक्षणों से संबंधित कई अन्य बीमारियां फेफड़े जनित होती हैं। ऐसे में पल्मोनरी विभाग निरंतर रोगियों का परीक्षण कर उन्हें उपचार दे रहा है जिससे उनकी आशंकाओं को दूर किया जा सके।

कैंसर के रोगियों को भी दी जाएगी पूर्ण सुविधाएं

प्रो. नागरकर ने कहा है कि एम्स की इमरजेंसी और ट्रामा में सेवाएं सुचारू रूप से चल रही हैं। इसके साथ ही कैंसर के रोगियों को भी पूर्ण चिकित्सा सुविधाएं प्रदान करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कैंसर के गंभीर रोगियों के लिए निरंतर चिकित्सा सेवाएं प्रदान की जा रही हैं। उन्होंने कैंसर के गंभीर रोगियों को एम्स तक आने की अनुमति देने का भी अनुरोध राज्य प्रशासन से किया है।

देश-प्रदेश की खबनें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें….

One Comment

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*