ola cab indore

Corona In Indore: ओला कैब को अब एंबुलेंस की तरह इस्तेमाल करेगा इंदौर जिला प्रशासन

कलेक्टर मनीष सिंह ने संक्रमण काल में ओला कैब से मांगी मदद

भोपाल. Corona In Indore: मध्य प्रदेश में इलाज के अभाव में अधेड़ की मौत के बाद इंदौर जिला प्रशासन ने एंबुलेंस की संख्या में इजाफा करने का निर्णय लिया है। इंदौर जिले प्रशासन संक्रमण काल में ओला कैब को एंबुलेंस की तरह इस्तेमाल करेगा।

यह भी पढ़े: MP politics update: मध्यप्रदेश में छोटा होगा मंत्रिमंडल, सिंधिया खेमे से बनेंगे मंत्री

इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने इस प्रक्रिया को अंजाम देने के लिए ओला की मदद मांगी थी। ओला (Corona In Indore) से हरी झंडी मिलने के बाद 50 गाड़ियों को अध्रिगहित करने का निर्णय लिया है। इन गाड़ियों के ड्राइवरों को कोरोना से बचाव के तमाम संसाधनों से लैस किया जाएगा।

इस घटना के बाद लिया गया निर्णय

मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में पिछड़े दिनों अधेड़ की अस्पताल के गेट में मौत हो गई। अधेड़ को उसके परिजन एंबुलेंस नहीं मिलने की वजह से स्कूटी में लेकर अस्पताल पहुंचे थे। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ था। इस घटना के बाद संक्रमण काल में आपातकालीन सुविधा के लिए जिला प्रशासन ने 50 ओला कैब (Corona In Indore) को अधिग्रहित किया है।

ड्रायवरों के साथ खाना खाएंगे कलेक्टर

अधिग्रहित की गई ओला कैब के ड्राइवरों से शनिवार को इंदौर कलेक्टर ने मुलाकात की। इंदौर कलेक्टर ने सभी ड्रायवरों को संबोधित करते हुए कोरोना से बचने के लिए सुरक्षा किट दिया। सुरक्षा किट देने के साथ गाड़ियों को सेनीटराइज किया गया।

यह भी पढ़े: सुकमा में पोडियम एर्रा की घेराबंदी गिरफ्तारी, संयुक्त ऑपरेशन

उद्बोधन के दौरान कलेक्टर ने सभी ओला कैब ड्रायवरों से मरीजों के साथ अच्छा व्यवहार करने की अपील की है। कोरोना संक्रमण खत्म् होने के बाद कलेक्टर मनीष सिंह, सभी ओला कैब ड्रायवरों के साथ डिनर करेंगे।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*