raipur rail

Corona Effect In Raipur Rail Mandal: रेलवे को हर दिन हो रहा 1.1 करोड़ का नुकसान

25 करोड़ के अनुमानित नुकसान का आकलन किया अधिकारियों ने

रायपुर. Corona Effect In Raipur Rail Mandal: लॉकडाउन की वजह से]रायपुर रेल मंडल को हर दिन 1.1 करोड़ का नुकसान हो रहा है। रायपुर रेल मंडल के अधिकारियों की माने तो, जब तक लॉकडाउन खत्म होगा।

तब तक रायपुर रेल मंडल 25 करोड़ के अनुमानित नुकसान में चला जएगा। नुकसान का कारण रेल प्रबंधन द्वारा यात्रियों द्वारा यात्रा ना करना और मालगाड़ी का परिचालन ना होना बताया जा रहा है।

यह भी पढ़े: Home quarantine के बाद भी दावतों में होते रहे शरीक.. कोरोना का बढ़ा खतरा

रायपुर रेल मंडल के मुख्य वाणिज्यिक प्रबंधक तन्मय मुखोपाध्याय ने इस बात की पुष्टि की है। उन्होंने बताया वित्तीय वर्ष 2018-19 में यात्री परिचालन से रोजाना 1.1 करोड़ रुपयों की आमदनी होती थी।

कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम हेतु यात्री परिचालन पूर्णतः रोक दिया गया है। इस रोकथाम से रायपुर रेल मंडल को नुकसान (Corona Effect In Raipur Rail Mandal) उठाना पड़ रहा है।

ऑटो चालको की जीविका पर आया संकट

लॉकडाउन की वजह से, रेलवे स्टेशन के बाहर ऑटो चलाने वाले चालकों की जीविका पर संकट आ गया है। ऑटो चालक यूनियन के अध्यक्ष राजेश स्वामी ने इस बात की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि, रेलवे स्टेशन परिसर से 1 हजार ऑटो चालको की जीविका चलती है।

रापुर रेल मंडल एक नजर में

  • स्टेशनों की संख्या- 46
  • यात्री गाड़ियों की संख्या- 120
  • मालगाड़ी- 150
  • रायपुर से यात्रियों की संख्या- 70 हजार प्रतिदिन
  • रायपुर में ऑटो की संख्या- 1 हजार

एक रिक्शा चालक दिनभर में 500 रुपये की आमदनी करता है। इस लॉकडाउन में उनकी आजीविका संकट में आ चुकी है। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे प्रबंधन को इस तबके हेतु एक विशेष राहत योजना बनानी चाहिए।

पॉर्किंग संचालक का लाइसेंस शुल्क माफ

स्टेशन परिसर के पार्किंग ठेकेदार अज़ीज़ अहमद और आसिफ़ मेमन ने लॉकडाउन में नुकसान (Corona Effect In Raipur Rail Mandal) होने की बात कही है। उन्होंने कहा कि नुकसान के समय में भी, वे अपने अधीनस्थ कर्मचारियों को उनका पूरा वेतन दे रहे हैं। रेलवे प्रबंधन ने उनका लॉकडाउन समय के लाइसेंस शुल्क को माफ़ कर दिया है।

यह भी पढ़े: coronavirus: आगामी दो सप्ताह भारत के लिए अहम.. क्या हुआ था बाकी देशों में.?

One Comment

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*