Congress comment,

पूर्व सीएम डॉ. सिंह पर कांग्रेस ने साधा निशाना

क्या रमन सिंह जी को स्मृतिलोप हो गया है: त्रिवेदी

रायपुर. छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा किया था। पूर्व सीएम के बयानों के बाद कांग्रेस प्रवक्ताओं ने उन पर जमकर निशाना साधा (Congress comment) है। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने रमन सिंह सरकार के 15 साल के रिक्त पदों और बेरोजगारी के आंकड़े जारी करते हुये टिप्पणी की है।

कांग्रेस संचार विभाग अध्यक्ष त्रिवेदी ने कहा है, कि रमन सिंह सरकार ने 15 साल तक जिन पदों को खाली रखा उसे कांग्रेस सरकार से डेढ़ साल में भरने की अपेक्षा कैसे करते है। ऐसी मांग करते रमन सिंह जी को थोड़ा सा अपने कार्यकाल का भी ख्याल करना चाहिये था। रमन सिंह जी ने अपनी 15 साल की सरकार में क्या किया, यह भूल गये। रमन सिंह सरकार के 15 वर्षो में रिक्त पदों का लेखा-जोखा जारी करते हुये कांग्रेस ने पूछा है कि क्या रमन सिंह जी को स्मृतिलोप हो गया है?

यह भी पढ़े: Carona update CG: छत्तीसगढ़ में कोरोना के मिले 46 नए मरीज

प्रदेश सरकार दे रही रोजगार

कांग्रेस प्रवक्ता त्रिवेदी ने कहा (Congress comment) है, कि कांग्रेस की भूपेश बघेल सरकार ने लगातार रोजगार देने के लिये काम किया है। प्रदेश में पहली बार राज्य सरकार द्वारा 40 अंग्रेजी माध्यम शालाओं की शुरूआत की गयी है। 15 हजार से अधिक स्थायी शिक्षकों की शालाओं में भर्ती की जा रही है। 1500 से अधिक स्थायी शिक्षकों की महाविद्यालयों में भर्ती की जा रही है।

सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इण्डियन इकॉनामी (सीएमआईई) के अनुसार छत्तीसगढ़  की बेरोजगारी दर 22 प्रतिशत से घटकर मात्र 3.4 प्रतिशत जबकि भारत में बेरोजगारी 23.5 प्रतिशत है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, मध्यान्ह भोजन के रसोइयों आदि के मानदेय में वृद्धि भी की गयी है। रमन सिंह सरकार शिक्षाकर्मियों के साथ 15 साल तक संविलियन के नाम पर छलावा करती रही। शिकाकर्मियों के संविलियन का काम कांग्रेस की भूपेश बघेल सरकार ने पूरा करके दिखाया।

यह भी पढ़े: छत्तीसगढ़ में होटल, क्लब, बार और रेस्टोरेंट बंद रहेंगे 28 जून तक

केंद्र सरकार कर रही भेदभाव

कांग्रेस नेता त्रिवेदी ने कहा है कि, कोरोना महामारी के कारण छत्तीसगढ़ में पुलिस, शिक्षक भर्ती का काम थोड़ा सा रूका है। केन्द्र की मोदी सरकार के भेदभाव का दंश अलग छत्तीसगढ़ झेल रहा है। कांग्रेस सरकार पर झूठे आरोप लगाकर रमन सिंह यह सोचे कि रमन सिंह जी की सरकार में 15 साल तक के रिक्त पदों और आऊट सोर्सिंग का काला इतिहास अभी छत्तीसगढ़ के लोग भूले नहीं है।  भाजपा की केन्द्र सरकार ने 2014 के लोकसभा चुनावों में दो करोड़ युवाओं को हर साल रोजगार देने का संकल्प लिया था। 6 वर्षो में 12 करोड़ युवाओं को रोजगार मिलना था। लेकिन हुआ उल्टा रोजगार कर रहे युवाओं की मोदी सरकार में तो नौकरियां चली गयी।

यह भी पढ़े: छत्तीसगढ़ में 10वीं और 12वीं का रिजल्ट जारी होगा मंगलवार को

कांग्रेस पर आरोप निराधार

कांग्रेस नेता शैलेश नितिन त्रिवेदी (Congress comment) ने पूछा है, कि जिस रमन सिंह सरकार ने 2015-16 में सिर्फ 397 लोगों को रोजगार दिया उसके मुखिया कांग्रेस पर झूठे निराधार आरोप लगायें इससे ज्यादा दुखद और कुछ भी नहीं है। पिछले 15 सालों में रमन-भाजपा सरकार में कोई भी शिक्षा नीति नहीं थी, न युवा नीति थी, न युवाओं को रोजगार के अवसर थे। भाजपा के केन्द्र सरकार ने देश के युवाओं से पान-पकौड़ों के स्टाल लगवाना चाहे और उनके ही नक़्शे क़दमों पर रमन सिंह जी ने तो पूरे छत्तीसगढ़ के बच्चों को मज़दूर बनाने की कोशिश की।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*