computer baaba

संतों की हत्या के विरोध में कंप्यूटर बाबा ने किया अनोखा प्रदर्शन

Computer baba 7 घंटे के लिए बीच सड़क में बैठे धुनी रमाकर

इंदौर. बुलंदरशहर और पालघर में संतो की मौत होने के बाद देश भर में प्रदर्शन होना शुरू हो गया। दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने की मांग की जा रही है। देश भर में संतो के प्रदर्शन के बीच मध्य प्रदेश में कंप्यूटर बाबा (Computer baba) के नाम से मशहूर संत ने धूनी रमाकर अनोखा प्रदर्शन शुरू किया है।

यह भी पढ़े: एक्टर इरफान खान का निधन, गंभीर बीमारी से जूझ रहे थे, आईसीयू में थे भर्ती

वे इंदौर के चौराहे में धुनी रमाकर 7 घंटे के अनशन पर बैठ गए है। कंप्यूटर बाबा (Computer baba)के शिष्यों ने मीडियाकर्मियों को बताया कि अराजकतत्व हमारे महात्मा और साधुओं को निशाना बना रहे हैं। इसी के विरोध में कंप्यूटर बाबा (Computer baaba )अनशन पर बैठे है। बाबा ने दोषियों पर कठोर से कठोर कार्रवाई की मांग की है। 

जाने कौन है कंप्यूटर बाबा

कंप्यूटर बाबा (Computer baaba) का असली नाम नामदेव दास त्यागी है। वे दिगंबर अखाड़े के सदस्य है और मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में उनका निवास है। कंप्यूटर बाबा को कार्टून देखने का बेहद शौक है। वे अपने साथ हमेशा लैपटॉप रखते है। उनकी इस रूचि को देखते हुए सन् 1988 में नरसिंहपुर में एक संत ने उन्हें कंप्यूटर बाबा नाम दिया था। 1988 के बाद वे मध्य प्रदेश समेत पूरे देश में कंप्यूटर बाबा के नाम से मशहूर हो गए। 

विवादित बयानों से चर्चा में रहे

कंप्यूटर बाबा अपने विवादित बयानों की वजह से मध्य प्रदेश के राजनैतिक गलियारे में वर्ष 2019 में चर्चा में रहे। उन्होंने नर्मदा यात्रा के दौरान अवैध उत्खनन का मुद्दा उठाया था।  मध्य प्रदेश सरकार ने कंप्यूटर बाबा को राज्यमंत्री का दर्जा दिया था। राज्यमंत्री बनने के बाद भी कंप्यूटर बाबा अक्सर विवादों में रहे हैं। 

पालघर और बुलंदशहर में हुई 4 साधुओं की मौत

पालघर और बुलंदशहर में अलग-अलग घटनाओं में चार साधुओं की मौत हो चुकी है। पालघर में भीड़ ने साधुओं को बच्चा चोर समझ लिया था। भीड़ ने साधुओं को पीट-पीटकर मार डाला। बुलंदशहर में नशेड़ी ने साधुओं की फटकार के बाद उनकी धारदार हथियार से हत्या कर दी। दोनों मामलें में पुलिस कार्रवाई कर चुकी है। 

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*