कोयला कांड का खुलासा, किसने रचा था खेल जानने के लिए पढ़ें खबर

पहले से ही छह आरोपी जा चुके हैं जेल

रायपुर. Coal scandal disclosed तीन माह पहले कोयला की तस्करी में सलिप्त माफिया को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। रायगढ़ के पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने बताया कि फरवरी माह में पूंजीपथरा क्षेत्र से दो 2 ट्रेलर वाहनों को जब्त किया गया था।

यह भी पढ़े:  प्रदेश के 2500 शिक्षक अपने घरों में जांचेंगे सीबीएसई की उत्तरपुस्तिका

तभी से कोयले की अवैध तस्करी से जुड़े (Coal scandal disclosed) आरोपियों की तलाश में पुलिस जुटी थी। इस गोरखधंधे के मुख्य आरोपी गुरुवार को पूंजीपथरा पुलिस ने तमनार थाना क्षेत्रा से गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़े: बिग ब्रेकिंग: पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की बिगड़ी तबीयत

एसईसीएल के अधिकारियों की मदद से 04 फरवरी 2020 को खदान (Coal scandal disclosed) में दो ट्रेलर वाहनों को भेजा गया। दोनो वाहनों में चोरी का कोयला को दोनों ट्रेलर में तस्करी के लिए निकाल दिया गया। दोनों ट्रेलर में करीब 60 टन कोयला पार किया गया।

यह भी पढ़े: किराना दुकानों पर कार्रवाई, 5-5 हजार का किया गया जुर्माना

जिसकी बजार में कीमती 1 लाख 50 हजार बताया जा रहा है। यह खेल लंबे समय से चल रहा था। पुलिस ने दोनों ट्रेलर वाहनों को कोयला सहित जब्त किया है। आरोपियों ने दोनों वाहनों का नंबर बदल कर पूरे खेल का अंजाम दिया।

भेजा रिमांड पर

दिनांक 6 जनवरी को पूंजीपथरा (Coal scandal disclosed) पुलिस द्वारा 2 ट्रेलर क्रमांक ऑडी 15 जी 1549 एवं वाहन ट्रेलर क्रमांक सीजी 15 एसी 5001 में आरोपी सुमन गुप्ता तथा शांतनु दास को अवैध रूप से कोयला परिवहन करते पकड़े गए। जिनके विरूद्ध इस्तगासा धारा 41(1+4)/ 379,34 भादवि के दर्ज कर दोनों को रिमांड पर भेजा गया था ।

गाड़ी का नंबर बदल दिया

आरोपी दिलीप कुमार ने अपने वाहन क्रमांक (Coal scandal disclosed) सीजी 13 एल 4259 की जगह दूसरा नंबर सीजी 15- एसी 5001 को नंबर लिखा कर कोयला चोरी की खेल का अंजाम दिया।

यह भी पढ़े:  बिग ब्रेकिंग: अमानक उर्वरक डी.ए.पी. और सिंगल सुपर फास्फेट प्रतिबंधित

जामपाली कोयला खदान (Coal scandal disclosed) से कोयला चोरी हो रहा था, जो कि एसईसीएल द्वारा संचालित है। अरोपियों पर अपराध क्रमांक 12 /2020 धारा 420, 467 ,468 ,120 बी, 201, 34 भादवि दर्ज कर विवेचना की जा रही थी ।

असिस्टेंट मैनेजर समेत छह पहले से ही जेल में

अपराध की विवेचना दौरान पाया गया कि एसईसीएल जामपाली खदान के असिस्टेंट मैनेजर सुमंता कुमारा के सांठगांठ कर शासन के कोयले को चोरी किया जा रहा था।

यह भी पढ़े: नक्सलियों को सामान सप्लाई करने के आरोप में गुड़गाव का इंजीनियर गिरफ्तार

पूंजीपथरा पुलिस द्वारा असिस्टेंट मैनेजर सुमंता कुमारा सहित 06 लोगों को इस मामले में गिरफ्तार कर पहले ही जेल भेज दिया। जिनमें किसी का जमानत नहीं हुआ है ।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें….

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*