Corona Update,

CM Yogi Instruction: 5 लाख प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देगी योगी सरकार

बैंकों के माध्यम से लोन मेला आयोजित करेगी योगी सरकार

लखनऊ. CM Yogi Instruction: लॉकडाउन में सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देने का निर्णय लिया है। देश के विभिन्न राज्यों से उत्तर प्रदेश पहुंचे 5 लाख श्रमिकों को रोजगार योगी सरकार उपलब्ध कराएगी।

यह भी पढ़े: Akhilesh Yadav Twit : यूपी के पूर्व सीएम ने केंद्र सरकार की कार्यप्रणाली पर खड़े किए सवाल

श्रमिकों को रोजगार मिल सके इसलिए सीएम योगी (CM Yogi Instruction) ने कृषि उत्पादन के आयुक्त की अध्यक्षता में कमेटी का गठन किया है। राज्य सरकार की मानें तो सरकार के इस प्रयास से ग्रामीण क्षेत्रों की अर्थव्यवस्था सुधरेगी।

आवास में लॉकडाउन की समीक्षा की

रविवार को सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Instruction) ने अपने सरकारी आवास में लॉकडाउन की समीक्षा की। समीक्षा बैठक में प्रमुख सचिव कौशल विकास, प्रमुख सचिव पंचायती राज और प्रमुख सचिव एमएसएमई मौजूद थे। यह समिति ओडीओपी के तहत बैंकों के मध्यम से मिलकर लोन मेले आयोजित कराएगी। सीएम ने कहा है कि रोजगार के अवसर सृजित करने के उद्देश्य से केंद्र सरकार ने रिवॉल्विंग फंड में बढ़ोत्तरी की है।

डोर टू डोर भेजा जाएगा पुष्टाहार

उत्तर प्रदेश सरकार बच्चों, गर्भवती माताओं, किशोरियों के लिए पुष्टाहार डोर टू डोर भेजेगी। 25 मार्च से प्रदेश में लॉकडाउन की वजह से ई-रिक्शा चालक, पल्लेदार, रेहड़ी लगाने वाले, खोमचा-ठेला वाले और दिहाड़ी मजदूरों के रोजगार में संकट आ गया है। उत्तर प्रदेश में उद्योगों को सशर्त अनुमति देने का निर्देश सीएम योगी ने दिया है।

समीक्षा बैठक में ये थे मौजूद

मुख्य सचिव आरके तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिकी विकास आयुक्त आलोक टंडन, कृषि उत्पदान आयुक्त आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी, रेणुका कुमार, संजीव कुमार मित्तल, डीजीपी हितेश सी अवस्थी, प्रमुख सचिव डॉ. रजनीश दुबे, अमित मोहन प्रसाद, एसपी गोयल, संजय प्रसाद एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश एक नजर में

  • 5 लाख श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराया जाए।
  • अधिकारी बैंकों के माध्य से लोन मेला आयोजित करें।
  • जिन क्षेत्रों में 10 से ज्यादा कोरोना पॉजीटिव केस, उन्हें ना खोला जाए।
  • प्रदेश में सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन हो।
  • कोरोना संदिग्धों की टेस्टिंग अनिवार्य रूप से हो।
  • मेडिकल स्टॉफ को सुरक्षा उपकरण हर हाल में मुहैय्या कराया जाए।
  • शेल्टर होम नियमित रूप से सेनीटाइज किए जाए।
  • बाहर से आने वाले व्यक्ति को हर हाल में क्वारंटाइन किया जाए।
  • सरकारी व धर्मार्थ संस्थाओं द्वारा संचालित गौशालाओं में पर्याप्त भूसे व चारे की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें..

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*