Five and a half thousand engineers of the state will not be able to do internship, stop till December

बड़ा फैसला : अब इंजीनियरिंग में नहीं रहेगा फर्स्ट ईयर का कंबाइंड सिलेबस

रायपुर। इंजीनियरिंग के विद्यार्थियों को नए सत्र (जुलाई) से नया अपग्रेड सिलेबस मिलेगा। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीइ) ने देशभर के लिए एक जैसा सिलेबस तैयार किया है। नए सिलेबस का 20 फीसदी कंटेंट ही सीएसवीटीयू को जोडऩा है, बाकी का हिस्सा एआइसीटीइ द्वारा निर्धारित रखा जाएगा। इसके लिए विवि ने बोर्ड ऑफ स्टडी को जिम्मेदारी दे दी है।

जल्द ही विवि में सिलेबस को लेकर बैठक होने वाली है प्रथम सेमेस्टर का सिलेबस सभी ब्रांच के लिए एकसमान रहता था, लेकिन एआइसीटीइ के नए सिलेबस के हिसाब से अब हर ब्रांच का कोर्स कंटेंट अलग-अलग होगा। विश्वविद्यालयीन अधिकारियों का कहना है कि पहले फेज में प्रथम वर्ष का ही सिलेबस अपडेट कर लागू कराया जा सकता है, शेष सेमेस्टर की प्रक्रिया साथ-साथ जारी रहेगी। नए सिलेबस के हिसाब से विद्यार्थियों को उद्योगिक ट्रेनिंग पूरी किए बिना डिग्री नहीं मिलेगी।

तीन सप्ताह का होगा इंडक्शन

एआइसीटीइ के नए सिलेबस के मुताबिक इंजीनियरिंग के विद्यार्थियों के तीन इंडक्शन प्रोग्राम की अवधि तीन हफ्ते निर्धारित की गई है। इसी तरह विद्यार्थियों की स्किल डेवलपमेंट पर जोर दिया गया है। औद्योगिक ट्रेनिंग को भी इस सिलेबस में अनिवार्य किया गया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*