high cort bilaspur,

Chhattisgarh High Court Breaking: सार्वजनिक नहीं होंगे जमातियों के नाम

हाईकोर्ट ने याचिका खारिज की

बिलासपुर. Chhattisgarh High Court Breaking जमातियों के नाम सार्वजनिक करने की याचिका हाईकोर्ट ने खारिज कर दी है। सोमवार को हाई कोर्ट ने इंकार कर दिया। हाई कोर्ट के जस्टिस प्रशांत कुमार मिश्रा और जस्टिस गौतम भादुड़ी की स्पेशल बेंच ने मामले की सुनावाई में यह फैसला सुनाया है।

यह भी पढें: कोरोना से भारत में अब तक 934 मरीजों की मौत

अधिवक्ता गौतम खेत्रपाल ने याचिका दायर की थी कि निजामुद्दीन मरकज से लौटे तब्लीगी जमातियों के नामों को सार्वजनिक किए जाएं। जमात के 159 लोग छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh High Court Breaking) आए उनके संपर्क में रहे लोगों का जिलावार जानकारी कोर्ट में प्रस्तुत की गई है। कोर्ट ने इस पर संतुष्टि जताई है।

राज्य की दी जानकारी से कोर्ट संतुष्ट

राज्य शासन और डीजीपी की ओर से दी गई जानकारी पर कार्ट ने संतुष्टि जाहिर की है। वहीं कोर्ट (Chhattisgarh High Court Breaking) ने यह भी निर्देश दिया है कि फिजिकल डिस्टेंसिंग के लिए राहत सामग्री सरकार को ही बांटने दें। जो संगठन सेवा करना चाहते हैं, वे उसे प्रशासन को सौंप दें।

प्लाज्मा डोनेट करने की अपील

भिलाई में छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh High Court Breaking) जमीयत उलेमा, हिन्द एवं छत्तीसगढ़ तबलीगी जमात के संयोजक मो.फिरोज खान एवं सैयद जमीर ने स्वस्थ्य हो चुके जमाती व उनके परिजनों से प्लाज्मा दान करने अपील की है।

यह भी पढें: भाभी के प्यार में युवक ने की भाई की हत्या

बयान में फिरोज खान और सैय्यद जमीर ने कहा कि प्रदेश में सिर्फ कटघोरा में ही कुछ साथी संक्रमित मिले हैं। भिलाई व अन्य जगह पर प्रशासन द्वारा क्वारंटाइन किए जमातियों की रिपोर्ट नेगेटिव आई। उनमें से किसी को भी किसी तरह का संक्रमण नहीं है।

अपील के मुख्य तथ्य

  • वर्तमान में कोरोना का कोई टीका नहीं निकला है और ना ही अब तक कोई दवा बनीं है।
  • मेडिकल साइंस ने प्लाज्मा थेरेपी का प्रयोग सफलतापूर्वक करना शुरू कर दिया है।
  • स्वस्थ्य हो चुके लोगों के खून से प्लाज्मा निकालकर संक्रमित मरीज को चढ़ाया जा रहा है।
  • जिससे सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं।
  • कटघोरा में स्वस्थ्य हो चुके जमाती अपना प्लाज्मा डोनेट कर इंसानियत की नई मिसाल बनें।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*