छत्तीसगढ़ सरकार बेटियों को दे रही 20 हजार रुपए, इस योजना के तहत खाते में आएंगे रकम, जानें क्या करें?

बेमेतरा। CM Noni Surksha yojana : राज्य सरकार द्वारा अपने राज्य के विकास और जनता के आर्थिक व सामाजिक उत्थान के लिए समय-समय पर कई योजनाओं को लागू किया जा रहा है। इसी प्रकार से प्रेदश सरकार द्वारा श्रमिकों के जीवन स्तर में सुधार लाने की ओर एक और कदम बढ़ाया गया।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस वर्ष गणतंत्र दिवस पर जनता के नाम संदेश में मुख्यमंत्री नोनी सशक्तिकरण सहायता योजना 2022 का शुभारम्भ किया गया। इस योजना का लाभ उन सभी श्रमिकों को मिल सकेगा जो छत्तीसगढ़ भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल में पंजीकृत हो चुके हैं। इस योजना का मुख्य उद्देश्य श्रमिक परिवार की बेटियों को शिक्षा, रोजगार, विवाह आदि में आर्थिक सहायता प्रदान कर सशक्तीकरण को बढ़ावा देना है। इस योजना में पंजीकृत श्रमिकों या मजदूरों के परिवार की प्रथम दो बेटियों को जिसकी उम्र न्यूनतम 18 वर्ष और 21 वर्ष से अधिक न हो तथा वह अविवाहित हो उन्हें 20-20 हजार रुपए की आर्थिक व सामाजिक सहायता प्रदान की जाएगी।

श्रमि मजदुर परिवार आर्थिक और सामाजिक रूप से कमजोर वर्ग में आता है। आर्थिक रूप से कमजोर होने की स्थिति में श्रमिक परिवार के बच्चों को खास तौर पर बालिकाओं को अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ देनी पड़ती है। ऐसी स्थिति में वे अशिक्षित रह जाती हैं जिससे उनका आर्थिक तथा सामाजिक रूप से शोषण होने लगता है। श्रमिक परिवार की बालिकाओं को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से तथा उन्हें शिक्षा, रोजगार तथा अपने विवाह हेतु आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए शुरुआत की गयी है। नोनी सशक्तिकरण योजना के तहत गरीब श्रमिकों के परिवार की बेटियों को प्रदेश सरकार द्वारा उनके बैंक खाते में धनराशि उपलब्ध कराई जाएगी जिसकी सहायता से वह अपनी शिक्षा को ग्रहण कर सकेंगी। साथ ही धनराशि की सहायता से अपना विवाह कर सकेंगी।

श्रम पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि जिला बेमेतरा में आज दिनांक तक 280 हितग्राहियों के पुत्री को 56,00,000 (छप्पन लाख रूपये) एन.ई.एफ.टी. के माध्यम से सीधे उनके बैक खाता में अंतरण किया गया। हितग्राहियों द्वारा इस प्रकार की सहायता मिलने पर राज्य के मुखिया बघेल एवं श्रम विभाग के अधिकारी/-कर्मचारियों का बहुत-बहुत अभार व्यक्त किया गया।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*