Chhattisgarh, At a cost of 2 crores, Hindi Medium School, English medium,

2 करोड़ से हिंदी माध्यम स्कूल को बनाएंगे अंग्रेजी मीडियम

रायपुर। राजधानी के शासकीय स्कूल में शिक्षा सत्र २०२०-२१ से अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई होगी। छात्र-छात्राओं को सीबीएसई पाठ्यक्रम के तहत पढ़ाई करने का मौका मिलेगा। प्राथमिक स्कूल में कक्षा पहली और पूर्व माध्यमिक स्कूल में कक्षा छठवीं में प्रवेश दिया जाएगा। जो छात्र अंग्रेजी माध्यम के स्कूल पढऩे में रूचि नहीं दिखाएंगे, उन्हें हिंदी माध्यम की पढ़ाई उसी परिसर में शिक्षा विभाग कराएगा, लेकिन स्कूल में नए बैच को प्रवेश नहीं मिलेगा।

शासकीय स्कूल में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई हो सके इसलिए शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने राजधानी के ५ स्कूलों का दौरा किया। छात्रों को शासकीय स्कूल में अंग्रेजी माध्यम वाले माहौल का अहसास हो इसलिए राज्य सरकार स्कूल का निर्माण करने में २ करोड़ रुपए खर्च करने की तैयारी कर रही है। इन ५ स्कूलों में शिक्षा विभाग ने किया दौरा शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि शासकीय स्कूल का अंग्रेजी माध्यम का बनाया जा सके इसलिए शिक्षा सचिव खुद विभागीय अधिकारियों से साथ दौरा कर रहे है। राजधानी के आमापारा  स्थित पं. आरडी तिवारी स्कूल नगर निगम स्कूल, बूढापारा स्थित माधव राव सप्रे नगर निगम स्कूल, बैरन बाजार स्थित प्यारे लाल यादव शासकीय उ. माध्यमिक विद्यालय, मौदहापारा स्थित शहीद स्मारक स्कूल और प्रो. जेएन पांडेय स्कूल का दौरा कर चुके है। इन स्कूलों में किसी एक शासकीय स्कूल को अंग्रेजी मीडियम बनाने की बात विभागीय अधिकारी कह रहे है।

इस तरह का होगा सरकारी अंग्रेजी मीडियम

शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने सरकारी स्कूल को अंग्रेजी माध्यम का बनाया जाए इसलिए सभी तैयारी सीबीएससी के नियमों को ध्यान में रखकर की जाएगी। छात्रों को शिक्षा मिल सके इसलिए अनुभवी शिक्षको का चयन किया जाएगा। छात्रों का बौद्धिक विकास के साथ शारीरिक विकास हो इसलिए स्कूल में ग्राउंड बनाया जाएगा। स्मार्ट क्लास रूम, नया फर्नीचर, लैब और लाइब्रेरी का अंग्रेजी मीडियम स्कूल में निर्माण किया जाएगा। सुरक्षा की दृष्टि से पूरे स्कूल परिसर को सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में रखा जाएगा। मामलें में शिक्षा विभाग के जिला शिक्षा अधिकारी जीआर चंद्राकर ने बताया कि स्कूल शिक्षा विभाग के सचिव इस पूरे प्रोजेक्ट को लीड कर रहे है। उनके नेतृत्व में ५ स्कूलों का दौरा किया गया है। नए शिक्षा सत्र तक स्कूल का निर्माण हो सके इसलिए पूरी तैयारी के साथ विभागीय अधिकारी जुटे हुए है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*