Chakrvaati Tuphaan Nisharg,

मुंबई के 50 किलोमीटर पहले खिसका चक्रवात, बड़े नुकसान की आशंका टली

100 किलोमीट प्रतिघंटा की रफ्तार से चल रही हवाएं

मुंबई. देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में चक्रवाती तूफान निसर्ग (Chakrvaati Tuphaan Nisharg) बड़ी तबाही नहीं मचा पाए है। इस करिश्मे के पीछे चक्रवात के खिसकने की वजह बताई जा रही है।

कोलाबा मौसम विभाग के उप संचालक कृष्णानंद होसालीकर ने बताया, कि मुंबई तट पहुंचने से पहले तूफान 50 किमी दक्षिण की ओर खिसक गया है। इस वजह से मुंबई को चक्रवाती तूफान से उतना नुकसान नहीं होगा, जितना आकलन लगाया जा रहा था। मुंबई की भौगोलिक स्थिति की वजह से आज तक कोई भी चक्रवाती तूफान नहीं टकराया है।

यह भी पढ़े: पूर्व प्रधानमंत्री पर आरोप लगाने वाले इस भाजपा नेता की बढ़ी मुसीबत, नहीं दिया जवाब तो होगी एकपक्षीय कार्रवाई

रविवार से थी तूफान से निपटने की तैयारी

मुंबई मनपा आयुक्त इकबाल सिंह ने बताया, कि चक्रवाती तूफान (Chakrvaati Tuphaan Nisharg) आने की घटना चौकाने वाली थी। 1981 के बाद से मुंबई ने कभी चक्रवाती तूफान का सामना नहीं किया है। अलर्ट मिलने के बाद रविवार से तूफान से निपटने की तैयारी शुरु कर दी गई थी। सोमवार को लो लाइन एरिया, स्लम एरिया और कोस्टल एरिया के लोगों को सुरक्षित स्थान पर भेज दिया गया था। मुंबई के समुद्र तट और निचले इलाके के 30 हजार लोग खुद सुरक्षित स्थान पर चले गए है। 10 हजार लोगों को मनपा ने सुरक्षित शिफ्ट किया है।  

Chakrvaati Tuphaan Nisharg,
चक्रवात निसर्ग के गुजरने के बाद राहत कार्य बचाव में लगे मनपा के अधिकारी-कर्मचारी।

एयरपोर्ट में आवाजाही बंद

चक्रवाती तूफान निसर्ग (Chakrvaati Tuphaan Nisharg) का अलर्ट मिलने के बाद मुंबई एयरपोर्ट में प्लेनों की आवाजाही पूरी तरह से बंद कर दी गई है। तूफान की वजह से बेगलुरु से आई फेंडएक्स फ्लाइट- 5033 को लैंडिंग के दौरान परेशानी का सामना करना पड़ा। तेज हवा की वजह से फ्लाइट का मूवमेंट बुधवार सुबह दो बजे से शाम 7 बजे तक बंद रखा गया है।  

देश-प्रदेश की खबरों के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*