BREAKING: रायपुर के 7 कारोबारियों ने 94 पीडि़तों से ठगे 9 करोड़ 30 लाख

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में मंगलवार 21 सितंबर को 9 करोड़ से ज्यादा की ठगी (THAGI) का मामला सामने आया है। 7 कारोबारियों ने 94 पीडि़तों के शेयर दस्तावेजों में फर्जीवाड़ा करके अपनी कंपनी में ट्रांसफर कर दिए। पीडि़तों के अनुसार शेयर की कीमत 9 करोड़ 30 लाख है।

पीडि़तों ने आरोपियों की शिकायत (THAGI)  रायपुर के गंज थाना में की है। पुलिस ने मामलें में जांच शुरू कर दी है। फर्जीवाड़ा करने वाले कारोबारियों का नाम विपिन कुमर अग्रवाल, कैलाशचंद्र अग्रवाल, विजय आनंद झावर, रमेश सिंह ठाकुर, सुरेंद्र सिंह सन्धु, आलोक मोहंती और हर्षवर्धन अग्रवाल बताया जा रहा है। आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। आरोपियों के खिलाफ धारा 409,420,467,468,471,47७ व 120 के तहत पुलिस ने केस दर्ज किया है।

इस तरह किया गबन

आरोपियों के खिलाफ शिकायत (THAGI)  करने वाले पीडि़त अजनी पांडेय ने पुलिस को बताया, कि वो सिलतरा सांई विहार में अपने परिवार के साथ रहता है। गंज थानाक्षेत्र स्थित मेसर्स हिमसागर लेमिनेटस प्रा.लि. 5 फ्लोर ओजोन टावर फाफाडीह गंज रायपुर कंपनी का पावर आफ अटर्नी होल्डर है। पीडि़तों की कंपनी का छत्तीसगढ स्टील एंड पावर लिमिटेड कंपनी में 13.7 प्रतिशत का शेयर होल्डिंग है।

मेरे कंपनी के अलावा 93 व्यक्तियों एवं फर्मों का छत्तीसगढ स्टील एंड पावर लिमिटेड कंपनी में शेयर था। वज्र मेटालिक प्राईवेट लिमिटेड के डायरेक्टरों ने दस्तावेजों मंे फर्जीवाड़ा करके हिमसागर लेमिनेटस प्रा.लि. के 9,30,00,000 रूपये (नौ करोड तीस लाख रूपये) शेयर (13.7 प्रतिशत शेयर) को कूट रचना कर कंपनी का शेयर रकम वज्र मेटलिक प्रा.लि. में दिनांक 01.10.2018 को ट्रांसफर कर लिया। पीडि़तों को 20 अगस्त को जानकारी हुई, तो आरोपियों के खिलाफ शिकायत की। पुलिस ने मामलें में जांच करते हुए आरोपियों के खिलाफ सोमवार की शाम को एफआईआर दर्ज की है। मामलें में जांच शुरू कर दी गई है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*