BJP OFFICE CHHATTISGARH

अप्रैल में तय करेगी बीजेपी छत्तीसगढ़ का प्रदेश अध्यक्ष, इस नेता का नाम आगे

रायपुर  . छत्तीसगढ़ में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष की घोषणा मध्य प्रदेश में मुखिया चुनने के बाद बीजेपी के केंद्रीय नेता तय करेंगे। भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व के शीर्ष नेताओं ने यह निर्णय पिछले दिनों हुई बैठक में लिया है। बीजेपी के पदाधिकारियों की माने तो केंद्रीय नेताओं ने अप्रैल माह के प्रथम सप्ताह में प्रदेश अध्यक्ष चुनने का निर्णय लिया है। छत्तीसगढ़ में प्रदेश अध्यक्षा का चुनाव दिसंबर में होना था, लेकिन नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव की वजह से उसे टाल दिया गया। दोनों चुनाव में बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़ा, इसके बाद से ही नए प्रदेश अध्यक्ष की मांग प्रदेश के बीजेपी नेता और कार्यकर्ता कर रहे है।

प्रदेश अध्यक्ष चुनने तीन दौरे किया पर्यवेक्षको ने

छत्तीसगढ़ का प्रदेश अध्यक्ष चुनने के लिए बीजेपी के पर्यवेक्षक तीन बार प्रदेश के नेताओं से चर्चा करके इसकी रिपोर्ट आलाकमान को दे चुके है। रिपोर्ट कोर कमेटी और राष्ट्रीय नेताओं से चर्चा के बाद बनाई गई थी। इस रिपोर्ट में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह खेमे से नए नाम का प्रस्ताव आने के बाद घोषणा टाल दी गई। बीजेपी के केंद्रीय नेताओं ने मध्य प्रदेश और झारखंड के प्रदेश अध्यक्ष की घोषणा कर दी। दोबारा होगी बैठक छत्तीसगढ़ का प्रदेश अध्यक्ष चुनने के लिए राष्ट्रीय सहसंगठन मंत्री कुशाभाऊ ठाकरे परिसर में जल्द बैठक लेंगे।

राष्ट्रीय सहसंगठन मंत्री ने दो हफ्ते पहले भी रायपुर में एक बैठक ली थी, लेकिन उस बैठक में ठोस निर्णय नहीं निकले। दोबारा होने वाली बैठक के लिए प्रदेश के नेताओं ने लामबंदी शुरु कर दी है। प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह सहित सांसद संतोष पांडेय, पूर्व केंद्रीय मंत्री विष्णुदेव साय और रामविचार नेताम का नाम प्रमुखता से आ रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश अध्यक्ष बनने से इंकार कर दिया है। सांसद संतोष पांडेय प्रदेश अध्यक्ष की रेस में सबसे आगे बताए जा रहे है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*