BJP against liquor sale,

छत्तीसगढ़ में शराब बिक्री के विरोध में बीजेपी ने खोला मोर्चा

राज्यपाल अनुसुईया उइके को बीजेपी नेताओं ने सौपा ज्ञापन

रायपुर. छत्तीसगढ़ सरकार ने प्रदेश का राजस्व बढ़ाने के लिए शराब बिक्री का निर्णय लिया है। राज्य सरकार के इस निर्णय के खिलाफ (BJP against liquor sale) बीजेपी नेताओं ने मोर्चा खोल दिया है। प्रदेश की शराब दुकानों में ताला लग सके इसलिए बीजेपी नेताओं ने सोमवार को राज्यपाल अनुसुईया उइके को ज्ञापन सौपा और शराब दुकान बंद कराने की मांग की।

यह भी पढ़े: 1200 श्रमिकों को गुजरात से छत्तीसगढ़ लेकर पहुंची पहली श्रमिक स्पेशल ट्रेन

शराब दुकान बंद (BJP against liquor sale) कराने के साथ ही बीजेपी नेताओं ने राज्य सरकार से सात बिंदुओं की जानकारी सार्वजनिक करने की बात कही है। राज्यपाल को ज्ञापन सौंपने (BJP against liquor sale) के दौरान भाजपा के वरिष्ठ नेता डॉ. रमन सिंह, सरोज पांडेय, बृजमोहन अग्रवाल, विक्रम उसेंडी और धरम लाल कौशिक शामिल थे।

यह भी पढ़े: पाठ्य पुस्तक निगम के पूर्व एमडी अशोक चुर्तवेदी पर EOW ने एफआईआर की दर्ज

ज्ञापन में राज्य सरकार से की ये मांग

राज्यपाल अनुसुईया उइके को ज्ञापन सौंपने के दौरान बीजेपी नेताओं ने भूपेश सरकार से 7 बिंदुओं की जानकारी सार्वजनिक करने की मांग की है।

  • भाजपा नेताओं ने ज्ञापन में कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए राज्य सरकार ने क्या-क्या इंतजाम किए है?
  • प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी हो, होम डिलीवरी का आदेश रद्द हो।
  • दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों को लिए स्पष्ट कार्य योजना बनाई जाए।
  • प्रवासी मजदूरों को राहत के तौर पर 1 हजार रुपए दिया जाए।
  • किसानों को धान की कीमत की अंतर राशि तुरंत उपलब्ध कराई जाए।
  • किसानों को बकाया बोनस जल्द जारी किया जाए।
  • सरकार ने टोकन दे दिया है, तो फसल की तत्काल खरीदी शुरू की जाए।
  • दूसरे राज्यों से जो लोग पास लेकर प्रदेश आ रहे है, उन्हें प्रदेश की सीमा में इंट्री दी जाए।  

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें….

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*