CM Baghel gave instructions,

छत्तीसगढ़ आए प्रवासी व्यक्तियों को 5 किलो खाद्यान्न देगी भूपेश सरकार

मई एवं जून माह में प्रति सदस्य 5 किलो प्रदान किया जाएगा खाद्यान्न

रायपुर. कोरोना संक्रमण काल की वजह से दूसरे राज्यों से वापस प्रदेश आए प्रवासी मजूदरों को भूपेश सरकार(Bhupesh government’s gift) ने राहत दी है। छत्तीसगढ़ के प्रवासी व्यक्तियों को भूपेश सरकार 5 किलो खाद्यान प्रति व्यक्ति प्रदान करेगी। इस सुविधा का फायदा उन श्रमिकों को भी मिलेगा, जिनके पास राज्य व केंद्र की किसी भी योजना के अंतर्गत राशनकार्डधारी नहीं है। इस संबंध में राज्य शासन के खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग द्वारा सभी कलेक्टरों को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए है।

यह भी पढ़े: बालोद में कोरोना पॉजीटिव, प्रदेश में एक्टिव केस हुए 11

सूची तैयार करने का निर्देश

योजना का क्रियान्वन जल्द से जल्द हो सके, इसलिए जिला प्रशासन द्वारा पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, राजस्व विभाग एवं श्रम विभाग के जिला अधिकारियों के द्वारा पात्र प्रवासी व्यक्तियों की पहचान कर उन्हें सूचीबद्ध करने की कार्यवाही करने को कहा गया है। पात्र प्रवासी व्यक्तियों (Bhupesh government’s gift) की डेटा एन्ट्री के लिए विभागीय वेबसाइट में पृथक से लिंक दिया गया है। इस योजना के लिए पात्र प्रवासी व्यक्तियों की एन्ट्री की जाएगी।

यह भी पढ़े: Weather Alert: छत्तीसगढ़ में तेज हवाओं के साथ बारिश के आसार

ये सब जानकारी जुटानी होगी

जारी आदेश के मुताबिक शासकीय अधिकारियों को प्रवासी व्यक्तियों की डेटा एन्ट्री में उनका नाम, पिता-पति का नाम, प्रवास से वापस आए सभी सदस्यों का नाम, आधार नंबर एवं मोबाईल नंबर की एन्ट्री करनी होगी। यदि एक परिवार में एक से अधिक सदस्य प्रवास (Bhupesh government’s gift) से वापस लौटे हैं, तो उन सभी के नाम की एन्ट्री एक साथ की जाए। सभी सदस्यों के आधार नंबर की एन्ट्री करना अनिवार्य होगा। प्रत्येक परिवार के एन्ट्री में कम से कम एक सदस्य के मोबाईल नंबर की एन्ट्री अनिवार्य रूप से की जाएगा। इस प्रक्रिया से खाद्यान वितरण की पावती संबंधित परिवार को उनके द्वारा दर्ज मोबाईल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से दी जा सके।

यह भी पढ़े: बिहार के लिए निकले 18 मजदूरों की टूटी हिम्मत, बोले- घर पहुंचा दो

आईडी प्रदान की जाएगी

प्रवासी व्यक्ति परिवार-सदस्य की उपरोक्तानुसार ऑनलाईन डेटा एन्ट्री के पश्चात उन्हें सर्वर से आईडी प्रदान की जाएगी। इस आईडी के माध्यम से उन्हें संबंधित शासकीय उचित मूल्य की दुकान से पात्रतानुसार खाद्यान प्राप्त होगा। इस योजनांतर्गत प्रवासी व्यक्तियों को कुल 10 हजार 38 टन खाद्यान्न आबंटित भी कर दिया गया है। खाद्यान्न प्राप्ति के प्रमाण के रूप में उसके हस्ताक्षर या अंगूठा का निशान लिया जाएगा।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*