corona virus cg

गैसे त्रासदी से तो बच गए थे लेकिन कोरोना वायरस ने ली 7 पीड़ितों की जान

भोपाल में हुई गैस त्रासदी पीड़ित नहीं बचा पाए कोरोना महामारी से, सातवे शख्स की गई जान

भोपाल. भोपाल गैस त्रासदी से सकुशल जीवन की बाजी जीत लाए शख्स अब कोरोना वायरस की चपेट में आकर दम तोड़ रहे हैं। आज फिर 72 साल के एक शख्स की जान कातिल कोरोना ने ली ली। इस तरह गैस त्रासदी से पीड़ित व्यक्तियों की मौत का यह सातवां मामला है।

टाइम्स ऑफ़ इंडिया के खबर के मुताबिक भोपाल शहर में 72 साल के बुजुर्ग रियाजुद्दीन की मौत 17 अप्रैल को हमीदिया अस्पताल में हुई, जिसका बीते रविवार रात को कोरोनोवायरस का परीक्षण किया गया। रियाजुद्दीन की मृत्यु को जिला प्रशासन द्वारा कोविड -19 की मृत्यु के रूप में “स्वीकार” नहीं किया गया है। हालांकि, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ प्रभाकर तिवारी ने स्वीकार किया कि रियाजुद्दीन की मृत्यु कोरोनोवायरस संक्रमण से हुई थी।

यह भी बढ़ें.. लॉकडाउन में स्टोर बंद होने की बात कहकर युवती को घर बुलाया और किया ऐसा काम..

भोपाल में मरने वाले सभी सात कोविड-19 पीड़ित, 36 साल पहले हुए गैस त्रासदी में जीवित बच गये थे, पर दुर्भाग्यवश ये सभी कोरोना वायरस की महामारी से खुद को नहीं बचा सके। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में अब तक कोरोना वायरस से सात लोगों की मौत हो चुकी है।

भोपाल में नरेश खटीक (55) की 7 अप्रैल को मौत हो गयी थी, इसके बाद जगन्नाथ मैथिल (80) की मौत 8 अप्रैल, रामप्रकाश यादव (52) और अशफाक नदवी (73) की मौत 11 अप्रैल, इमरान खान (42) की 12 अप्रैल और युनूस खान (60) की 14 अप्रैल को मौत हो गई। इन सभी की मौत कोरोना वायरस के चलते हुई है। सभी के रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। भोपाल में 36 साल पहले हुए गैस त्रासदी के सभी पीड़ित भी थे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*