rajmadgaon police

एएसपी साहब ने निगम कर्मी से कहा, पहले मुंडन करा फिर वापस दूंगा गाड़ी

राजनांदगांव . प्रदेश में लॉकडाउन Rajnandgaon police के बीच पुलिस के दो चेहरे दिखाई दे रहे हैं। एक चेहर वह है, जिसमें पुलिस जरूरतमंदों के लिए फरिश्ता बनकर सामने आई है, वहीं कुछ अधिकारियों को ओहदे का इतना गुरुर है किसी को कुछ नहीं समझ रहे। ऐसे ही एक मामले में राजनांदगांव पुलिस के एएसपी गजेंद्र सिंह दिखे हैं। राजनांदगांव के इमाम चौक पर तैनात एएसपी गजेंद्र सिंह ने नगर निगम के वार्ड प्रभारी को रोक लिया और डंडा दिखाकर मुंडन करने की जिद करने लगे। निगम कर्मचारी ने आई कार्ड भी दिखाया, लेकिन साहब कहां सुनने वाले थे। हालांकि बाद में उन्होंने माफी जरूर मांग ली।

ये भी पढ़े – MP Cabinet expansion: वेटिंग में भाजपा के आधा दर्जन दिग्गज..

पहचान पत्र दिखाने के बाद भी

मामला कुछ ऐसा है कि इमाम चौक पर Rajnandgaon police पुलिसकर्मी सडक़ पर बेवजह घूम रहे लोगों को पकड़ रहे थे। तभी उन्होंने नगर निगम के वार्ड प्रभारी सुरेश सोनी ने को रोक लिया। पहचान पत्र दिखाने पर भी सिपाहियों ने सुरेश की बाइक जब्ती बना ली। उसको दो-तीन सूत भी दिए। इसके बाद जब अन्य निगमकर्मी अभिजीत बाइक लेने गए तो लौटा दिया।

एएसपी गजेंद्र सिंह ने कहा- बाल बड़े हैं, जब तक मुंडन नहीं कराएगा, बाइक नहीं देंगे। इसके बाद निगम कर्मचारियों ने आयुकत चंद्रकांत कौशिक से लिखित शिकायत की। इस पर आयुक्त ने एसपी से मामला बताया। तब कहीं जाकर गाड़ी छोड़ी गई।

एएसपी बोले, मजाक किया था…

इस पूरे मामले में अब एएसपी गजेंद्र सिंह का कहना है कि कर्मचारी को मजकिया लहजे से समझाइश दी गई। लाठी मारने की जानकारी नहीं है। ऐसे भी चौक में भीड़ थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*