आतंकी कमांडर बना नायकू,

हिजबुल मुजाहिदीन का कमांडर रियाज नायकू ढेर

बीमार मां से मिलने आया था पुलवामा के बेगपोरा गांव

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर में सक्रिय हिजबुल मुजाहिदीन का कमांडर रियाज नायकू को सुरक्षा बलो ने मार (Army Terrorist Encounter) गिराया है। रियाज नायकू इंटेलीजेंस की लिस्ट में पिछले दो सालों से मोस्ट वांटेड था।

यह भी पढ़े: नहीं मिल रहा मूवमेंट पास का इंतजार,लोग हो रहे परेशान

पुलवामा हमले के बाद रियाज नायकू का नाम पहली बार सामने आया था। सुरक्षा बलों के रियाज नायकू के कुछ साथियों की मौजूदगी का इनपुट गांव में मिला है। इस एनकाउंटर के बाद पुलवामा में भारी पथराव हुआ है। सुरक्षा की दृष्टि से घाटी में इंटरनेट बंद कर दिया गया है।

मंगलवार की रात को मिला था इनपुट

हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर रियाज नायकू पुलवामा के बेगपोरा गांव आया है। यह जानकारी मंगलवार की रात को इंटेलिजेंस को मिली थी। जानकारी मिलने पर जवानों ने बेगपोरा गांव को चारो तरफ से घेर लिया। बुधवार की सुबह आतंकियों ने छत से गोली बारी शुरू कर दी।

यह भी पढ़े: पूरे मई भर हर शनिवार और रविवार को रहेगा लॉकडाउन, आवश्यक सेवाएं यथावत

पहले नायकू अपने छत में बने कमरे में छिप गया, लेकिन कुछ देर बाद सुरक्षाबलों पर गोली चलाता हुआ बाहर निकला। जवानों ने 40 किलो की आईडी से उस पूरे घर को उड़ा दिया, जहां से गोलियां चल रही थी। विस्फोट से नायकू और उसका साथी आदिल मारा गया। हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर रियाज नायकू का मारा जाना सुरक्षा बलों की बड़ी कामयाबी है।  

आतंकियों का नाम हम नहीं बताएंगे- सेना

आर्मी प्रवक्ता कर्नल अमन आनंद ने बताया कि सेना ने 24 घंटे में 4 आतंकी मार गिराए है। दो आतंकी पुलवामा और 2 बेगपोरा में मारे गए हैं। हालांकि जम्मू क-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ ने नायकू और उसके साथी के नाम का खुलासा कर दिया है।  

2010 के उपद्रव के बाद बना आतंकी

हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर रियाज नायकू आतंकी बनने से पहले मैथ्स टीचर था। वो कश्मीर के पुलवामा का रहने वाला है। 2010 में कश्मीद में उपद्रव के दौरान एक बच्चे तुफैल मट्‌टू की मौत ने उसे आतंकी बना दिया। वो बुरहान में इत्तू उर्फ महमूद गजनवी के मारे जाने के बाद हिजबुल मुजाहिदीन का कमांडर बना था।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*