छत्तीसगढ़ विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज मंडावी के निधन पर 1 दिन का राजकीय शोक की घोषणा, राजकीय सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार

रायपुर। Deputy Speaker Manoj Mandavi passes away: छत्तीसगढ़ विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज मंडावी का आज हार्ट अटैक से निधन हो गया। मंडावी छत्तीसगढ़ के बड़े राजनेता माने जाते हैं। वे भानुप्रतापपुर के विधायक भी थे। निधन की खबर से पूरे छत्तीसगढ़ में शोक की लहर दौड़ गई है। राज्य सरकार ने 1 दिन का राजकीय शोक की घोषणा की है।

Deputy Speaker Manoj Mandavi passes away: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मनोज सिंह मंडावी के आकस्मिक निधन पर गहरा दुख प्रकट किया है। मुख्यमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा है कि मंडावी वरिष्ठ आदिवासी नेता थे। उन्होंने नवगठित छत्तीसगढ़ के गृह राज्यमंत्री और विधानसभा के उपाध्यक्ष सहित अनेक महत्वपूर्ण पदों को सुशोभित किया और प्रदेश की सेवा की। वे वर्ष 1998 में अविभाजित मध्यप्रदेश विधानसभा के तथा वर्ष 2013 और 2018 में छत्तीसगढ़ विधानसभा के सदस्य निर्वाचित हुए। मंडावी छत्तीसगढ़ आदिवासी विकास परिषद के अध्यक्ष भी रहे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मनोज सिंह मंडावी आदिवासी समाज के बड़े नेता थे। वे आदिवासियों की समस्याओं को विधानसभा में प्रभावशाली ढंग से रखते थे। मंडावी आदिवासी समाज की उन्नति और अपने क्षेत्र के विकास के लिए सदैव प्रयासरत रहे। प्रदेश के विकास में उनके योगदान को सदैव याद रखा जाएगा। उनका निधन हम सबके लिए अपूरणीय क्षति है। मुख्यमंत्री ने मनोज सिंह मंडावी के शोक संतप्त परिवारजनों के प्रति संवेदना प्रकट करते हुए दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है।

एक दिन का राजकीय शोक

राज्य सरकार ने 1 दिन का राजकीय शोक की घोषणा की है। आदेश के अनुसार रायपुर और कांकेर जिले में राजकीय शोक रहेगा। आज शाम को लगभग चार बजे उनके गृहग्राम नाथिया नवगांव में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार होगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*