Ajit Dobhal,

डोभाल के नाम पर चीन फैला रहा झूठ, रहे सावधान

विदेश मंत्रालय ने कहा मीडिया न दे इस पर ध्यान

नई दिल्ली। सीमा विवाद के बीच चीन (China) लगातार नापाक सजिशों को अंजाम देने में लगा हुआ है। सीमा से इतर चीन की ओर से एक प्रोपगेंडा भी चलाया जा रहा है, ताकि भारत की छवि को बिगाड़ा जा सके। इसी क्रम में चीनी मीडिया की ओर से राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल (Ajit Dobhal) को लेकर कुछ अफवाह फैलाई गई, जिसपर अब भारत के विदेश मंत्रालय ने सिरे से खारिज कर दिया है। इतना ही नहींं विदेश मंत्री ने भी सीमा (LAC) पर गंभीर होते हालातों को लेकर चेताया है और ये भी कहा है कि स्थिति गंभीर है।

चीन की इस प्रोपगेंडा चाल पर विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है, ‘हमने चीनी मीडिया (चाइना डेली, ग्लोबल टाइम्स) में कुछ आर्टिकल देखे हैं जिसमें NSA अजित डोभाल (Ajit Dobhal) को लेकर बात की जा रही है। हम साफ करना चाहते हैं कि ये सभी रिपोर्ट्स पूरी तरह से गलत हैं, ऐसे में इस तरह की खबरों से बचने की अपील करते हैं।’

s jaishankar

आपको बता दें कि चीनी मीडिया ने अपनी कुछ रिपोर्ट्स में दावा किया है कि अजित डोभाल (Ajit Dobhal) की ओर से ही माहौल को गर्माने की कोशिश की जा रही है। इसके लिए अजित डोभाल के उस बयान का हवाला दिया गया है जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत बॉर्डर पर एक लॉन्ग हॉल के लिए तैयार है। गौरतलब है कि चीन की ओर से लगातार झूठा एजेंडा चलाए जाने की कोशिश की जा रही है। बीते दिन लद्दाख सीमा पर हुई घटना को लेकर चीन ने कहा कि भारत ने घुसपैठ करते हुए फायरिंग की। लेकिन भारतीय सेना ने अपना बयान जारी कर चीन का पर्दाफाश कर दिया।

नहीं थम रही चीन की कपटी चाल

चीन (China) की नापाक चाल को एक बार फिर भारत ने विफल कर दिया है। लगातार तीसरी बार चालबाज चीन ने भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ की कोशिश की है, जिसका भारतीय सेना (Indian Army) ने मुंहतोड़ जवाब दिया है। दरअसल सोमवार को पूर्वी लद्दाख (Eastern Ladakh) में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारत और चीन (India & China) के सैनिकों के बीच फिर झड़प हो गई है। इसमें दोनों देशों की सेनाओं ने एक-दूसरे को डराने-धमकाने और पीछे धकेलने के लिए हवा में गोलीबारी की। यह घटना पैंगोंग त्सो (झील) के दक्षिणी तट के पास शेनपाओ पर्वत के पास हुई।

pangong tso

इस इलाके में भारतीय सेना के जवानों का कब्जा है, लेकिन चीनी सेना के 40-50 सैनिक इनके सामने आ गए। चीन की ओर से कोशिश की गई है कि भारतीय जवानों को हटाया जाए और उस रेजांग ला की ऊंचाई पर कब्जा कर लिया जाए। हालांकि, चीनी सेना इसमें सफल नहीं हो पाई है। बता दें कि सोमवार की शाम को चीन की ओर से लद्दाख सीमा में घुसपैठ की कोशिश की गई थी, जब भारतीय जवानों ने उन्हें रोका तो PLA के जवानों ने फायरिंग की। हवाई फायरिंग कर भारतीय सेना को डराने की कोशिश की गई, लेकिन भारतीय सेना के जवानों ने संयम बरता और चीनी सैनिकों को वापस भेज दिया।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*