he groom could not bring his wife

45 दिनों से बारातियों संग ससुराल में फंसा है दूल्हा.. 21 मार्च को हुई थी शादी

उत्तर प्रदेश. कोरोना महामारी (coronavirus covid 19) देश में जनता कर्फ्यू (Janta Curfew) के दौरान फंसा एक दुल्हा अभी तक अपने ससुराल से वापस अपने घर लौट नहीं पाया है। यही नहीं 12 बाराती भी उसके साथ फंसे हुए हैं। दरअसल युवक कानपुर से बारात लेकर बेगुसराय में शादी के लिए गया था इसी बीच जनता कर्फ्यू की घोषणा के बाद लॉकडाउन घोषित कर दिया गया।

औरंगाबाद हादसे में मरे मजदूरों के परिजनों को मुआवजा देगी शिवराज सरकार

युवक कानपुर के चौबेपुर गांव का रहने वाला इम्तियाज है जिसकी शादी 21 मार्च को बेगुसराय की खुशबू से तय हुई थी। शादी के लिए बारात भी चली गई और दोनों की शादी भी हो गई। जैसे ही शादी हुई इसके ठीक एक दिन बाद यानि कि 22 मार्च को जनता कर्फ्यू (Janta Curfew) लग गया। इसके बाद तीन दौर में लॉकडाउन… ऐसे में 12 बारातियों सहित दूल्हा ससुराल से अपने घर लौट नहीं पाया।

एयरफोर्स का फाइटर प्लेन क्रैश, पायलट सुरक्षित

कोरोना वायरस को देखते हुए लगाए गए लॉकडाउन के चलते दूल्हा 45 दिनों से अपने ससुराल की खातिरदारी करवा रहा है। ऐसे में जाहिर है किसी भी घर की व्यवस्था का चरमारा जाना लाजिमी है। लड़की वाले भी हालात के आगे बेबस है। आखिर दूल्हे राजा और बारातियों से कहें भी तो कैसे।

भयावह : क्वारंटाइम सेंटर से भागे 23 मजदूर, क्षेत्र में दहशत

दूल्हे की बहन आफरीन चौबेपुर में अपने घर पर है उनका कहना है कि 45 दिन हो गए बारात अब तक नहीं लौटी है। दुल्हन के परिवार वाले इतने दिनों तक कितने परेशान होंगे हम समझ सकते हैं। इतने लोगों का खाना खिलाना आसान नहीं होता। फिलहाल इम्तियाज ने स्थानीय प्रशासन में इसकी इत्तला दे दी है साथ ही अपना नाम भी दर्ज करवा लिया है। अब इंतजार है प्रशासन द्वारा कोई व्यवस्था किए जाने का ताकि वह घर लौट पाए।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*