After all what happened that the people involved in the funeral fled

Left the funeral: आखिर ऐसा क्या हुआ कि अंत्येष्ठी में शामिल लोग भाग खड़े हुए

उत्तरप्रदेश. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus epidemic) ने हर किसी को बेबस कर दिया है। हर कोई खुद को इस वायरस से बचाने की कवायद में लगा है। इस वायरस का खौफ किस कदर है इसका उदाहरण वाराणसी की मणिकर्निका घाट पर तब देखने को मिला जब एक अफवाह के चलते परिजन और शवदाह करने पहुंचे लोग भाग खड़े हुए। (Left the funeral)

4G internet in Jammu and Kashmir: फिलहाल बहाली पर होगी रोक

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक एक महिला की मौत हो गई थी और उसके परिजन मणिकर्णिका घाट पर उसकी अंत्येष्ठी के लिए ले गए थे। (Coronavirus epidemic) चिता में शव रखा भी जा चुका था कि इस बीच एक ऐसी अफवाह फैली कि शवदाह के लिए गए लोगों ने महिला का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया और सभी लोग वहां भाग निकले। (Left the funeral)

पूर्व प्रधानंत्री मनमोहन सिंह एम्स में भर्ती, हालत स्थिर, बुखार और सीने में तकलीफ थी

बताया जा रहा है कि महिला का शव कुछ जवान सेना की वर्दी में लेकर गए थे। साथ ही शव लेकर गए कुछ लोग पीपीई किट भी पहने हुए थे लिहाजा लोगों का इस बात को लेकर शक होने लगी कि कहीं महिला कोरोना वायरस (Coronavirus epidemic) से तो नहीं पीड़ित थी। थोड़ी ही देर बाद वहां महिला के कोरोना वायरस संक्रमण होने की अफवाह आग की तरह फैल गई। (Left the funeral)

Arnab Goswami case: FIR खारिज होगा या नहीं कोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसला

तब वहां मौजूद लोगों ने शवदाह करने व अंतिम संस्कार से मना कर दिया। और सभी घाट छोड़कर चले गए। इस दौरान महिला का शव चिता पर भी रखा जा चुका था बस आग देना ही बाकी था। (Left the funeral) जब लोग वहां से भाग गए तब काफी देर तक महिला का शव चिता में ही रखा रहा। (Coronavirus epidemic) इसके बाद पुलिस ने हस्तक्षेप करते हुए महिला का अंतिम संस्कार करवाया।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*