Katghora Became Corona Hotspot

13 से 20 मार्च के बीच 9 हजार यात्री पहुंचे छत्तीसगढ़, रेल्वे की सूची में हुआ खुलासा

कटघोरा का किशोर बांट चुका है 21 लोगों को कोरोना, भिलाई में भी मिला जमाती, 90 लोगों से रहा संपर्क

रायपुर. कोरोना वायरस (coronavirus) को लेकर नित नए खुलासे हो रहे हैं। जाहिर है यदि लोग खुद से अपनी जिम्मेदारियां न समझें तो प्रशासन कुछ भी नहीं कर सकता। वहीं रेल्वे द्वारा भेजी गई सूची में 13 मार्च से लेकर 20 मार्च के बीच प्रदेश में करीब 9 हजार लोग आ चुके हैं। रेल्वे प्रशासन ने बकायदा ऐसे लोगों का नाम और नंबर सौंपा है।

इन तिथि के बीच निजामुद्दीन से आने वाली ट्रेनों से प्रदेश के अलग-अलग शहरों में उतरे जमातियों समेत सभी यात्रियों की सूची रेलवे ने छत्तीसगढ़ शासन को सौंप दी है। इस सूची में मुंबई, अमृतसर और पुरी समेत ऐसे शहरों से आने वाले यात्रियों का भी ब्योरा है, जहां कोरोना का संक्रमण ज्यादा है। रेलवे की तरफ से सौंपी गई सूची में 9 हजार से ज्यादा नाम, फोन नंबर और पते है।

16 वर्षीय किशोर ने बांटा 21 को कोरोना

कोरबा के कटघोरा तब्लीगी जमात के मरकज से लौटे 16 साल का किशोर सबसे पहले कोरोना संक्रमित पाया गया। 4 अप्रैल को इसकी रिपोर्ट आई। बाहर से आए जमातियों की लापरवाही, झूठ ने इसे विस्तार दे दिया। इसके बाद इसी किशोर के संपर्क में आकर महज पांच दिनों के अंदर 21 लोग संक्रमित हो गए। प्रशासन के निर्देशों को न मानने और सच्चाई छिपाने के कारण संक्रमण फैलता चला गया। कोरोना के हॉटस्पॉट बने कोरबा जिले के कटघोरा कस्बे ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है। प्रदेश में मिले अब तक 31 संक्रमितों में अकेले 22 मामले कटघोरा से हैं। इसके बाद प्रशासन ने पूरे इलाके को सील कर दिया है। सभी के सैंपल लेकर टेस्ट कराए जा रहे हैं।

भिलाई में भी पुलिस ने खोज निकाला जमाती

हजरत निजामुद्दीन तब्लीगी मरकज से लौटे एक और जमाती को पुलिस ने खोज निकाला है। जमाती हुडको में अपने भाइयों के घर पर रह रहा था। उसे खोजने के बाद पुलिस ने उसे क्वारंटाइन तो करवा दिया है, लेकिन उसे लेकर प्रशासन की चिंता काफी ज्यादा बढ़ गई है। क्योंकि वो न सिर्फ भिलाई में रहा, बल्कि अपनी भतीजी की शादी में भी शामिल हुआ है। जिससे उसके दर्जनों लोगों के संपर्क में आने की आशंका है। प्रारंभिक जांच में पता चला है कि वह तकरीबन 90 लोगों के संपर्क में आ चुका है। जमाती 10 मार्च को भिलाई लौटा था और उसी दिन जगदलपुर चला गया। वहां जाने से पहले वह रायपुर भी आया। 19 मार्च को फिर वह भिलाई लौटा और अपनी भतीजी की शादी में शामिल हुआ। इस बीच लॉक डाउन के चलते वह जगदपुर नहीं लौट पाया।

हालांकि जमाती ने पुलिस से दावा किया कि वो लॉकडाउन की घोषणा के बाद उसने स्वास्थ्य विभाग को जानकारी दी थी। स्वास्थ्य विभाग के कहने पर उसने खुद को होम आइसोलेट कर लिया था और 14 दिन की अवधि पूरा कर चुका है, लेकिन पता चलने के बाद पुलिस ने उसे क्वारंटाइन सेंटर भेजा है। साथ ही उसका सैंपल भी रायपुर भेजा है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*