Madarsa

बंद हो सकते हैं प्रदेश के 7189 मदरसे, सर्वे में हुआ ये बड़ा खुलासा, यहां की सरकार ने लिया एक्शन

लखनऊ। एक राज्यव्यापी सर्वेक्षण में प्रदेश में चल रहे मदरसे को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। मदरसा शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष इफ्तिखार अहमद जावेद ने इसकी जानकारी दी है। बताया कि प्रदेश में 7189 मदरसे बिना मान्यता के चल रहे हैं। इन मदरसों में लगभग 3000 शिक्षक और अन्य कर्मचारी हैं। वहीं 16 लाख से अधिक छात्रों को शिक्षित किया गया है। अब बिना मान्यता के चल रहे ऐसे मदरसों पर सरकार बड़ी कार्रवाई करने की तैयारी में है।

मदरसा शिक्षा बोर्ड के अनुसार राज्य में लगभग 16,513 मान्यता प्राप्त मदरसे हैं। इनमें से 560 उत्तर प्रदेश सरकार से अनुदान प्राप्त कर रहे हैं। मान्यता प्राप्त मदरसों में 20 लाख से अधिक बच्चे पढ़ाई कर रहे हैं। दूसरी ओर बिना मान्यता के चल रहे संगठनों और उनके पाठ्यक्रम के बारे में विवरण इकट्ठा करने के लिए 10 सितंबर को सर्वेक्षण शुरू हुआ था।

जावेन ने कहा, ”बिना मान्यका वाले मदरसों की संख्या बढ़ने की उम्मीद है, क्योंकि जानकारी अभी भी आ रही है। अगले कुछ दिनों तक बहराइच और गोंडा के बाढ़ प्रभावित इलाकों में सर्वेक्षण जारी रहने की उम्मीद है। उन क्षेत्रों के कर्मचारियों ने सर्वेक्षण पूरा करने के लिए कुछ और समय मांगा है।’ बता दें कि सर्वेक्षण के परिणामों का विश्लेषण 15 नवंबर तक किया जाएगा। वहीं बोर्ड की ये कोशिश होगी कि इन 7189 मदरसों को जल्द से जल्द मान्यता दी जाए। ऐसा इसलिए क्योंकि 16 लाख छात्रों का भविष्य खतरे में पढ़ जाएगा। वहीं उन्हें मान्यता देकर मुख्यधारा में लाया जाए।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*