Students trapped in Kyrgyzstan,,

सूबे में 76 हजार लोगों को किया गया है होम क्वांरेंटाईन.. सीएम बघेल ने दी जानकारी

रायपुर. छत्तीसगढ़ सरकार (Government of Chhattisgarh) ने कोरोना वायरस पर शिकंजा करने के वह तमाम कोशिश अब तक की है जो की जा सकती थी। यही वजह है कि राज्य में इस कातिल वायरस का प्रकोप ज्यादा नहीं बढ़ पाया है। यहां 11 में से 9 मरीज ठीक होकर वापस अपने घर भी लौट आए हैं।

दरअसल छत्तीसगढ़ सरकार की कोशिशों का ही नतीजा रहा कि यहां कोरोना वायरस का प्रकोप पर फिलहाल अंकुश लगा हुआ है। गुरुवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यह जानकारी दी कि राज्य में कुल 76 हजार लोगों को होम क्वारेंटाईन (Home quarantine) किया गया है। सरकार ने इस संकट पर काबू पाने के लिए दो खास फैसले लिए हैं। पहला ये कि सरकार खनिज के 506 करोड़ रुपए के फंड का इस्तेमाल मेडिकल उपकरण खरीदने में लगाएगी। सरकार का दूसरा फैसला राज्य में उन लोगों को भी सरकार की ओर से अनाज दिया जाएगा, जिनके पास राशन कार्ड नहीं हैं।

सरकार हर जिले में कोरोना से निपटने के लिए आवश्यक वस्तुओं की खरीदी डिस्ट्रिक्ट मिनरल फंड (District Mineral Fund) से कर सकेगी। केंद्र सरकार ने इस फंड से 30 फीसदी रकम खर्च करने की छूट दे दी है। छत्तीसगढ़ के पास 1 हजार 686 करोड़ डीएमएफ के हैं। इसका 506 करोड़ कोरोना की जांच के लिए रैपिड किट, पीपीई किट, मास्क, सैनिटाइजर ग्लव्ज खरीदने में किया जा सकेगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*