exam

छात्र-छात्राओं के 50 लाख का बीमा, दिया जाए जनरल प्रमोशन

छत्तीसगढ़ छात्र संगठन जोगी ने लिखा राज्यपाल को पत्र

रायपुर. 50 lakh insurance for students सभी शैक्षणिक संस्थानों को बंद है। ऐसे में उच्च शिक्षा विभाग परीक्षा होना संभव प्रतीत नहीं हो रहा है। छतीसगढ़ छात्र संगठन जोगी द्वारा मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर जनरल प्रमोशन कि मांग की गई थी।

यह भी पढ़े: नहीं चुका पाए पिछला कर्ज, खाद बीज नहीं उठा रहे किसा

सभी शैक्षणिक संस्थानों को बंद कर दिया गया है। ऐसे में उच्च शिक्षा विभाग द्वारा (50 lakh insurance for students) जारी शैक्षणिक कैलेंडर 2019-20 के अनुसार परीक्षा होना संभव प्रतीत नहीं हो रहा है।

यह भी पढ़े:  क्वारंटाइन मियाद से पहले कोटा से आए छात्र घर रवाना, जिला प्रशासन ने पालकों से लिया वचन पत्र

जिससे प्रदेश के निजी एवं शासकीय महाविद्यालयों (50 lakh insurance for students) में पढऩे वाले लाखों छात्र-छात्राओं का अपने शैक्षणिक भविष्य को लेकर काफी चिंता बढ़ गई हैं। छात्र छात्राओं की चिंताओं को ध्यान में रखते हुए छतीसगढ़ छात्र संगठन जोगी द्वारा मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर जनरल प्रमोशन कि मांग की गई थी।

छात्रहित में निर्णय नहीं

पूर्व में जारी गाइडलाइन के मुताबिक छात्रहित में किसी भी प्रकार का निर्णय नहीं लिया गया। कहा गया की महाविद्यालयों में जनरल प्रमोशन नही दी जा सकती और परीक्षाए पूर्ववत होंगी।

यह भी पढ़े:  6 महीने के लिए मिल जाएगा ईएमआई से छुटकारा, रिजर्व बैंक करेगा घोषणा

साथ ही साथ कुछ दिनों पहले पता चला कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा मामले को संज्ञान में लेते हुए एक कमेटी बनाई गई।

यह भी पढ़े: पैसे नहीं दिए तो मासूम की तकिया से मुंह दबाकर कर दी हत्या, आरोपी सगा ताऊ

जिसके द्वारा परीक्षाओं को लेकर सुझाव दिए गए। इसके बाद विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा परीक्षा संबंधी गाइडलाइन जारी की गई। परन्तु जारी गाइडलाइन में भी समस्याएं हैं। अत: ऐसे में छात्र छात्राओं के शैक्षणिक भविष्य को लेकर विभिन्न समस्याएं हैं।

चार बिंदुओं में मांग

  • 15 जून से नया सत्र प्रारम्भ हो जाता है
  • मार्च से जून तक आयोजित होने वाली परीक्षा को एक माह जुलाई में ही करा पाना असंभव है
  • यदि जुलाई में परीक्षाएं आयोजित की गईं तो उनके परिणाम सितंबर से पहले जारी नही किए जा सकेंगे,
  • ऐसे में नए सत्र के लिए प्रवेश कब दिया जाएगा और पूरक की परीक्षाए कब होंगी
  • यदि परीक्षाए आयोजित की गई तो मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र उड़ीसा, अन्य प्रदेशों में फंसे हमारे प्रदेश के छात्र छात्रों क्या होगा
  • कोरोना महामारी के सबसे महत्वपूर्ण सुझाव सामाजिक दूरी के नियम के अनुसार एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के बीच की दूरी कम से कम 6 फ़ीट की होनी चाहिए
  • ऐसे में प्रदेश में मौजूदा संसाधनों के साथ 6 फ़ीट की दूरी के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए परीक्षा सम्पन्न करा पाना संभव नही है
  • यदि परीक्षा आयोजित की जाती है तो क्या सभी परीक्षा केंद्रों में सेन्टाइस मसीन लगाया सरकार जा सकता है
  • यदि परीक्षा आयोजित की जाती है तो सभी छात्रों को मास्क उपलब्ध कराएंगी सरकार
  • यदि परीक्षा आयोजित की जाती है तो सभी परीक्षा केंद्रों को सेन्टाइस कराएंगी सरकार!

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*