RTE,

शिक्षा विभाग बैकफुट पर, जिले के 240 स्कूलों की मान्यता रखेगी यथावत

पूर्व डीईओ के आदेश को संचालक ने किया निरस्त

रायपुर। फीस विनयनम अधिनियम-2020 का उल्लंघन करने वाले जिले के 240 निजी स्कूलों (private school) की मान्यता जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) ने 18 जनवरी 2021 को निरस्त कर दी थी। डीईओ की एकतरफा कार्रवाई का छत्तीसगढ़ प्रायवेट स्कूल एसोसिएशन ने विरोध किया।

एसोसिएशन के विरोध का असर ये दिखा, कि एक तरफा कार्रवाई करने वाले तत्कालीन डीईओ के निर्देश को स्कूल शिक्षा विभाग के संचालक ने निरस्त कर दिया है। गुरुवार को जारी आदेश में संचालक ने कहा है, कि कार्रवाई की जाने से पहले स्कूल संचालकों का पक्ष लिया जाना चाहिए। संचालक ने डीईओ को निर्देश जारी किया है, कि जिन स्कूलों ने फीस समिति की जानकारी नहीं भेजी है,उन्हें नोटिस जारी कर जवाब मांगे। संस्था द्वारा दिए गए जवाब को लोक शिक्षण संचालनालय कार्यालय भेजे, ताकि नियमों का उल्लंघन करने वालों पर संचालक स्तर से कार्रवाई हो सके।

नियम विरूद्ध थी कार्रवाई

तत्कालीन जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा निजी स्कूलों (private school) की मान्यता निरस्त किए जाने के आदेश को निजी स्कूलों के संचालकों ने नियम विरूद्ध बताया था। सीबीएसई बोर्ड से स्कूल संचालन करने वाले निजी स्कूलों का कहना था, कि जिला शिक्षा अधिकारी उनके स्कूल पर कार्रवाई करने का हक नहंी रखते। उनके स्कूलों की निगरानी करने के लिए नोडल है और जिला कार्यालय से उनका किसी भी तरह का संबद्ध नहीं है। सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड से स्कूलों का संचालन करने वाले संचालक ने विभागीय अधिकारियों को कोर्ट जाने की धमकी भी दी थी।

इन इलाके के स्कूलों की मान्यता हुई रद्द

कुठेरी, सिलयारी, धरसीवा, कुरूद, उरकुरा, भनपुरी, बिरगांव, रावाभांठा, नया रायपुर, आरडीए कॉलोनी, रविशंकर,कोटा, टाटीबंध, रोहिणीपुरम, अवंति विहार, गायत्री नगर, अमलीडीह, शांति नगर, तरपोंगी, मानाबस्ती, सिविल लाइन, खमतराई, बैजनाथपारा, हीरापुर, तेंदुआ, कबीर नगर, तुलसी, मोती नगर, बोरियाखुर्द, डूंडा, पुराना धमतरी रोड, सुंदर नगर, डूमर तालाब, शैलेदं्र नगर, संजय नगर, चरोदा, भिलाई, कांदुल, काठाडीह, मंडलोर, अभनपुर, रीवा, तंडवा, पचारी, महावीर नगर, न्यू राजेंद्र नगर, गिरौद, सारागांव, पिपरौद, डिओरी, चंगोरा भाठा और सेरीखेड़ी।

अधिकारियों के निर्देश का पालन

मामलें में जिला शिक्षा अधिकारी एएन बंजारा का कहना है, कि वरिष्ठ अधिकारियों ने निजी स्कूलों (private school) की मान्यता संबद्धी पूर्व आदेश को निरस्त करके उन्हें नोटिस जारी करने और उनका जवाब मुख्यालय पेश करने का निर्देश दिया है। वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

वरिष्ठ अधिकारियों का धन्यवाद

मामलें में छत्तीसगढ़ प्रायवेट स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष राजीव गुप्ता एवं एसोसिएशन के सचिव मोती जैन का कहना है, कि तत्कालीन डीईओ ने एकतरफा निर्देश जारी किया था। एकतरफा कार्रवाई का हमने विरोध किया था और वरिष्ठ अधिकारियों से मामलें की शिकायत की थी। विभागीय अधिकारियों ने जांच के बाद मान्यता रद्द करने वाले निर्देश को निरस्त किया है। विभागीय अधिकारियों को धन्यवाद।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*