Quarantine Center,

बिहार के लिए निकले 18 मजदूरों की टूटी हिम्मत, बोले- घर पहुंचा दो

तीन दिन पहले तेलंगाना से निकले थे मजदूर


जगदलपुर. laborers got out of Bihar तेलंगाना से साइकिल पर सवार होकर बिहार जा रहा मजदूरों की छत्तीसगढ़ के बॉडर पर हिम्मत टूट गई। अब वे साइकिल बेचकर बस से घर जाना चाहता है। अब साइकिल चलाने की हिम्मत ही नहीं बची।

यह भी पढ़े: Corona update: छत्तीसगढ़ में मिले कोरोना के 6 नए मरीज

मजदूर अब सरकार से मदद की गुहार लगा रहे हैं। उनका कहना है कि हमें सही सलामत बस घर पहुंचा दो। तेलंगाना से 18 मजदूर साइकिल चलाकर (laborers got out of Bihar) छ्तीसगढ़ में बस्तर के बॉर्डर कोंटा पहुंचे थे।

यह भी पढ़े: Weather Alert: छत्तीसगढ़ में तेज हवाओं के साथ बारिश के आसार

पिछले 3 दिन से तेज गर्मी और चिलचिलाती धूप में साइकिल पर (laborers got out of Bihar) सवार होकर बिहार जाने के लिए निकले थे। उन्होंने बताया कि वे तेलंगाना के कोदाड़ में काम करने गए थे।

ये भी पढ़े : फिर आज 11 बजे से सोमवार सुबह 6 बजे तक जिले में टोटल लॉकडाउन

लेकिन काम शुरू करने से पहले लॉकडाउन हो गया। मजदूरों का आरोप है कि (laborers got out of Bihar) वहां पर कंपनी ने खाना देने से मना कर दिया था। तो फिर सभी ने वापस आने के लिए साइकिल खरीदी और निकल पड़े।

ब्याज पर घरवालों से मंगवाए पैसे से ली साइकिल

मजदूरों ने बताया कि उन्होंने घर वालों से पैसे मंगवाए क्योंकि उनके पास खाने तक के के पैसे नहीं थे। वहां की सरकार (laborers got out of Bihar) ने जो चावल दिया था, वो कुछ ही दिनों में खत्म हो गया था। उसके बाद हमारे सामने खाने के लाले पडऩे लग गए थे।

ये भी पढ़े : यूपी के औरेया में हादसा : मजदूरों से लदे ट्रक की टक्कर, 24 की हो गई मौत

घर वालों को फोन किया। फिलहाल ट्रेन और बस चलने के कोई आसार नहीं है, ऐसे में आर्थिक रूप से कमजोर परिजनों ने उधार लेकर पैसे बैंक के माध्यम से भिजवाए। उसके बाद साइकिल खरीदी और घर के लिए रवाना हो गए।

सरकार से गुहार

इन मजदूरों ने सपना देखा था कि बाहर कमाने जाएंगे और अपने परिवार का भरण-पोषण करेंगे। लेकिन कहते है न सपने तो किस्मत वालों के सच होते हैं। मजदूरों की अब एक ही ख्वाहीश है घर वापसी। सरकार से मजदूर बस इतना ही चाहते हैं कि उन्हें सही सलामत उनके घर तक पहुंचा दिया जाए।

इनका है कहना

कोंटा के एसडीएम हिमाचल साहू का कहना है कि बाहर से आ रहे मजदूरों के स्वास्थ्य की जांच की जा रही है। प्रवासी मजदूरों के खाने की व्यवस्था भी कर रहे हैं। मजदूरों को धीरे-धीरे व्यवस्था के मुताबिक घर भेजा जा रहा है।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*