RAIPUR POLICE,

राजधानी में 11 माह में 1 हजार 53 चोरी, 59 हत्या और 247 धोखाधड़ी

आय दिन चाकूबाजी, चोरी और लूट की घटनाओं से जिलेवासी हलाकान

रायपुर। राजधानी रायुपर दिन पे दिन अपराधधानी (RAIPUR POLICE) बढ़ता जा रहा है। बीते 11 माह 15 दिन में शहर में चोरी, चाकूबाजी, लूट और धोखाधड़ी की घटनाओं ने शहरवासियों को डरा दिया है। अपराधियों का खौफ इस कदर है, कि पॉश कॉलोनियों की महिलाओं ने देर शाम घर से बाहर निकला बंद कर दिया है।

हर घटना के बाद पुलिस अधिकारी अपराधियों पर नियंत्रण लगाने और वारदातों को रोकने की बात कहते है। अधिकारियों का यह दावा हर बार हवा-हवाई साबित होता है। अपराधियों का हौसले शहर में इस कदर बुलंद है, कि दिन हो या रात वो कभी भी वारदात को अंजाम देकर फरार हो रहे है, और पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार करने की बात कहते हुए केस की विवेचना करती रहती है।

नशे ने बढ़ाया शहर का अपराध ग्राफ

शहर (RAIPUR POLICE) में बढ़ती वारदातों का कारण विशेषज्ञ नशे के कारोबार को बताते है। जितनी भी बढ़ी वारदात शहर में घटी और जब आरोपी पकड़ में आए तो नशे में वारदात होने की बात सामने आई है। जानकारों की मानें तो शहर में नशे की खपत इस कदर बढ़ी है, कि शहर में वर्चस्व की लड़ाई शुरू हो गई है। गिरोह बनाकर वारदात को अंजाम देने वाले आदतन अपराधियों एक दूसरे गिरोह के सदस्यों पर हमला करके सोशल मीडिया में वीडियो शेयर कर कर रहे है और शहरवासियों के अंदर खौफ पैदा करने की कोशिश कर रहे है।

सबसे ज्यादा अपराध इन इलाको में

विभागीय आंकड़ों (RAIPUR POLICE) की मानें तो गंभीर अपराध की सबसे ज्यादा वारदात राजधानी के टिकरापारा, कोतवाली, मौदहापारा, पुरानी बस्ती, खमतराई, आमानाका, कबीर नगर, आजाद चौक, उरला और विधानसभा इलाके में अपराध की घटनाएं सामने आई है। सबसे कम वारदात जिस थानाक्षेत्र में हुई उसमें देवेंद्र नगर, मोवा, सरस्वती नगर, मुजगहन, माना और तेलीबांधा थानाक्षेत्र का इलाका शामिल है।

साइबर अपराध पुलिस के लिए बना चुनौती

हाईटेक अपराधी रायपुर पुलिस को रोजाना परेशानी बढ़ा रहे है। साइबर अपराध रायपुर पुलिस के लिए चुनौती बना हुआ है। साइबर ठगी की वारदात जिले में कम हो इसलिए पुलिस अधिकारियों ने लोगों को जागरूक करने के साथ-साथ, एटीएम बूथ के बाहर चस्पा अभियान भी चलाया है। पुलिस की सब मशक्कत के बावजूद लालच के फेर में पड़कर राजधानीवासी रोजाना ठगी के शिकार हो रहे है। रायपुर पुलिस के अधिकारियों ने साइबर ठगों से कई पीडि़तों का पैसा वापस करवाया, लेकिन कई पीडि़त अब भी अपने पैसे का इंतजार कर रहे हैं।

फैक्ट फाइल

  • चोरी- 1053
  • अपहरण- 235
  • बलात्कार- 232
  • धोखाधड़ी- 247
  • हत्या- 59
  • बलवा- 74
  • धारदार हथियार से हमला-294
  • आम्र्स एक्ट- 346
  • लूट- 52
  • डकैती- 06

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*