वन्यजीव संरक्षण कानून उल्लंघन पर होगा एक लाख तक जुर्माना

दिल्ली। केंद्र सरकार के संसद के मानसून सत्र में महंगाई पर चर्चा के लिए तैयार होने के बाद सोमवार को राज्यसभा और लोकसभा में हंगामा थमने की राह निकल सकती है। हालांकि (Wildlife Protection Act Violation) कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी के राष्ट्रपति पर बयान का विवाद अभी थमा नहीं है।

सरकार की ओर से कई अहम विधेयक दोनों सदनों में पेश हो सकते हैं। इनमें वन्यजीव संरक्षण संशोधन विधेयक-2021 (Wildlife Protection Act Violation) शामिल है। स्टेंडिंग कमेटी की सिफारिशें मिलने के बाद केंद्रीय वन-पर्यावरण मंत्री भूपेन्द्र यादव इस विधेयक को फिर से लोकसभा में पेश करेंगे। लोकसभा में सोमवार को प्रश्नकाल और विधायी कार्यों के बाद नियम 193 के तहत महंगाई पर चर्चा को सूचीबद्ध किया गया है। वन्यजीव संरक्षण संशोधन विधेयक-2021 छत्तीसगढ़, राजस्थान व मध्यप्रदेश जैसे राज्यों के लिए काफी अहम माना जा रहा है। विधेयक के कई प्रावधानों को लेकर वन्यजीव प्रेमी आपत्ति जता चुके हैं। इसे दिसंबर 2021 में संसद में पेश करने के बाद सांसद जयराम रमेश की अध्यक्षता वाली स्टेंडिंग कमेटी को भेजा गया था।

अब अधीर ने ईरानी पर लगाया आरोप

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने राष्ट्रपति पर बयानबाजी को लेकर रविवार को लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर इस मुद्दे को सदन में फिर से उठाने के संकेत दिए हैं। चौधरी ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर सदन में राष्ट्रपति को अनुचित तरीके से पुकारने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा (Wildlife Protection Act Violation) कि ईरानी ने राष्ट्रपति के आगे माननीय, मैडम या श्रीमती जैसे आदरसूचक शब्दों का इस्तेमाल नहीं किया। वह बार-बार राष्ट्रपति का नाम लेकर चिल्ला रही थीं। यह राष्ट्रपति के पद के स्तर को कम करने जैसा है। चौधरी ने ईरानी से बिना शर्त माफी मांगने को कहा है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*