महंत नरेंद्र गिरी को वीडियो से किया जा रहा था ब्लैकमेल

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि (MAHANT NARENDRA GIRI) की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत की जांच की जा रही है। इस पूरे मामले को लेकर कई तरह के नए खुलासे हो रहे हैं।

मीडिया रिपोट्र्स के अनुसार ताजा जानकारी के मुताबिक, महंत नरेंद्र गिरि (MAHANT NARENDRA GIRI) को वीडियो के दम पर ब्लैकमेल किया जा रहा था। सूत्रों के मुताबिक, महंत नरेंद्र गिरि को ब्लैकमेल करने में एक सीडी का इस्तेमाल किया जा रहा था। ब्लैकमेलिंग के इस मामले में राजनेता के खिलाफ पुलिस जांच कर रही है। जिस नेता की बात हो रही है, वह अक्सर बाघंबरी मठ में नरेंद्र गिरि से मिलने आते थे। इतना ही नहीं इस पूरे मामले में जिस शिष्य आनंद गिरि को हिरासत में लिया गया है, वह पूर्व राज्य मंत्री उसका भी करीबी था।

कॉल डिटेल से मिले अहम सुराग

प्रयागराज पुलिस को कॉल डिटेल की मदद से ये सभी अहम सुराग मिले हैं। पुलिस ने राजनेता के खिलाफ जांच शुरु कर दी है। आपको बता दे कि, प्रयागराज पुलिस ने पहले ही नरेंद्र गिरि (MAHANT NARENDRA GIRI) की मौत के मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है। धारा 306 के तहत ये एफआईआर दर्ज की गई है, जिसमें आनंद गिरि का भी नाम है। आनंद गिरि पर महंत नरेंद्र गिरि को मानसिक रूप से प्रताडि़त करने का आरोप है। महंत नरेंद्र गिरि ने अपने सुसाइड नोट में भी आनंद गिरि का जिक्र किया है। इसके अलावा दो अन्य पुजारियों को प्रयागराज से हिरासत में लिया गया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*