गोबरा-नवापारा के बस्तियों में भरा पानी, रायपुर में गिरे 144 मकान

रायपुर। छत्तीसगढ़ में लगातार हुई बारिश (BARISH) से बाढ़ का कहर जारी है। तेज बारिश की वजह से रायपुर जिले में 144 मकान ढह गए हैं। सबसे अधिक नुकसान गोबरा-नवापारा में हुआ है। वहां की कई बस्तियों को खाली करा लिया गया है। वहीं, अभनपुर के पास महानदी की बाढ़ में फंसे आठ ग्रामीणों को डीआरएफ की टीम बचाकर लाई है।

इतना हुआ नुकसान

रायपुर जिला प्रशासन ने बताया कि 13 सितंबर को हुई भारी बारिश (BARISH) के कारण जिले में 144 मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं। एक व्यक्ति और एक मवेशी की जान भी गई है। रायपुर तहसील में 28, आंरग में 18, अभनपुर में 27, गोबरा-नवापारा में 67 और खरोरा में 4 मकानों के क्षतिग्रस्त होने की जानकारी आई है। गोबरा-नवापारा के वार पारा के बाढ़ प्रभावित 80 परिवारों को सोमवारी बाजार में निर्मित शेड में पहुंचाया गया है। वार्ड-16 के बाढ़ प्रभावित परिवारों को सोमवारी बाजार के प्राइमरी स्कूल और नवापारा की कृषि उपज मंडी में पहुंचा दिया गया है। जो परिवार अपने रिश्तेदार के यहां रुकना चाहते थे उनके सामान को संबंधित रिश्तेदारों के यहां छोड़ा गया।

कलेक्टर ने नुकसान का पता लगाने के निर्देश दिए

रायपुर कलेक्टर सौरभ कुमार ने भारी बारिश (BARISH) की वजह से हुए नुकसान का पता लगाने के निर्देश दिए हैं। इसके तहत प्रशासन का मैदानी अमला निजी और सार्वजनिक संपत्ति को हुए नुकसान का सर्वे करेगा। इसके बाद रिपोर्ट सौंपी जाएगी। इसी के आधार पर बाद में मुआवजे का मामला बनेगा।

बीते 24 घंटों में 31.5 मिमी बरसात हो गई

पिछले 24 घंटे में रायपुर तहसील में 31.5 मिलीमीटर बरसात दर्ज हुई है। वहीं आरंग में 21.4 मिमी, अभनपुर में 21 मिमी, गोबरा-नवापारा में 7.1 मिमी, तिल्दा में 18.3 मिमी और खरोरा में 16 मिमी वर्षा हुई है। राजधानी रायपुर में भी लगातार बारिश जारी है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*