अरपा भैसाझार बैराज से छोड़ा पानी, 200 घरों का जीवन अस्त-व्यस्त

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में लगातार हो रही बारिश (BARISH) और बैराज का गेट खोले जाने के बाद शहर के निचले हिस्सों में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। बिना अलर्ट जारी किए अरपा भैसाझार से पानी छोडऩे के बाद करीब 200 घरों में पानी भर गया है। सबसे बुरे हालत दयालबंद इलाके के मांडवा बस्ती, कुदुदंड, चिंगराजपार समेत जबड़ा पारा के हैं। मांडवा बस्ती के करीब 150 से ज्यादा घरों में पानी घुस चुका है। जबकि कई मकान क्षतिग्रस्त हो गए हैं। बस्ती के लोगों ने बताया बुधवार शाम 4 बजे से उनके घरों में पानी आना शुरू हो चुका था।

लबालब हुआ बैराज

दो दिनों में हुए बारिश (BARISH)  के कारण भैंसाझार बैराज लबालब हो चुका है। बुधवार सुबह से ही बैराज का गेट खोलकर 2392 क्यूसेक पानी छोड़ा गया। इससे बिलासपुर शहर में अरपा नदी के जल स्तर में बढ़ोतरी हो गई। यही वजह थी कि बुधवार की दोपहर 3 बजे तक शनिचरी रपटा पुल पूरी तरह से डूब गया।

न खाना बना सकते न खा सकते हैं

मांडवा बस्ती में रहने वाली शकुंतला कुमार ने बताया कि बुधवार की शाम 4 बजे से उनके घर में पानी भरना शुरू हो गया था। घर का अधिकतर सामान बर्बाद हो चुका है। न खाना बना सकते है, न खा सकते हैं और न ही सो सकते हैं। हर तरफ घर में सिर्फ पानी (BARISH)  ही पानी है। पानी में सांप भी तैरता हुआ दिखाई दिया था, जिसके बाद से बच्चे बेहद डरे हुए हैं। उन्होंने प्रशासन से अपील की है कि जल्द से जल्द राहत कार्य शुरू कर उन्हें सुरक्षित जगहों पर शिफ्ट किया जाए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*